Aapni Agri
कृषि समाचार

Organic Fertilizer: प्रशासन गौशाला में कर रहा जैविक खाद तैयार, किसान ले सकते हैं बेहत सस्ते रेट में

Organic Fertilizer The administration is preparing organic fertilizer in the cowshed
Advertisement

Organic Fertilizer: झाँसी नगर निगम ने एक नई पहल के तहत निराश्रित पशुओं के पालन-पोषण के लिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। नगर निगम के कान्हा उपवन में पलने वाली गायों के गोबर का उपयोग कर नगर निगम ने एक नई योजना बनाई है, जिससे गोबर को जैविक खाद Organic Fertilizer में बदला जा रहा है. नगर निगम इस जैविक खाद को बाजार में बेचकर सारा पैसा बेसहारा पशुओं के भरण-पोषण में लगाने का इरादा रखता है।

जैविक खाद Organic Fertilizer का उपयोग

Also Read: Leaf Miner Disease in Mustard: सरसों की फसल में फैल रहा लीफ माइनर रोग, जानें रोकथाम व उपचार के तरीके

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Organic Fertilizer: यह जैविक खाद Organic Fertilizer पूरी तरह से प्राकृतिक है, जिसके कारण फसलों में उचित और अधिक उत्पादन पाने के लिए जैविक खाद Organic Fertilizer का सबसे अधिक उपयोग किया जा रहा है, क्योंकि इसमें किसी भी प्रकार का रसायन नहीं होता है। इस उर्वरक को तैयार करने के लिए ऑस्ट्रेलियाई प्रजातियों का उपयोग किया जाता है। केंचुओं का उपयोग किया जा रहा है, जिससे खाद अधिक पौष्टिक हो जाती है।

Advertisement
ऑनलाइन बाज़ार तक पहुंच, अमेज़न और फ्लिपकार्ट के साथ साझेदारी

Organic Fertilizer: नगर निगम ने निर्णय लिया है कि इस जैविक खाद Organic Fertilizer की आपूर्ति ऑनलाइन बाजारों में भी की जायेगी. इसे Amazon और Flipkart जैसे ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कराया जाएगा, जिससे लोग इसे आसानी से खरीद सकेंगे।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
विभिन्न विकल्पों में उपलब्धता

Also Read: Farming: फसलों में डालें गोबर या वर्मी कंपोस्ट खाद? जानें दोनों में अंतर व फायदे

Organic Fertilizer: नगर निगम ने इस खाद को 5 किलो और 25 किलो की पैकिंग में उपलब्ध कराया है, ताकि लोग अपनी जरूरत के मुताबिक इसे खरीद सकें. इसका स्टॉल नगर निगम कार्यालय में लगाया जायेगा, साथ ही इसे शहर के विभिन्न दुकानों पर भी उपलब्ध कराया जायेगा.

Advertisement

Organic Fertilizer: झाँसी नगर निगम के डॉ. राघवेंद्र ने कहा, “यह उर्वरक लोगों को प्राकृतिक और स्वस्थ खेती का एक सुरक्षित और उपयुक्त विकल्प प्रदान करने का एक प्रयास माना जा सकता है। यह लोगों को आत्मनिर्भर बनाने का एक नया मॉडल भी प्रदान करता है।”

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Also Read: Snow Advance Scheme: किसानों को अपने खेतों में तालाब निर्माण और मछली पालन पर मिलेगी 80% सब्सिडी, यहां करें आवेदन

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Wheat Cultivation: समय से पहले गेहूं में बालियाँ निकालने का मुख्य कारण है ये, कृषि विज्ञानकों ने दी ये सलाह

Rampal Manda

Protect milch animals: दुधारू पशुओं में सायनाइड पॉइजनिंग मचा रहा आंतक, ये रहा लक्षण और बचाव का तरीका

Rampal Manda

Wheat PGR experiment: गेहूं में पैदावार बढ़ाने वाला PGR का प्रयोग कब करें, जानें संपूर्ण जानकारी

Rampal Manda

Leave a Comment