Aapni Agri
कृषि समाचार

Haryana Farmers Welfare Authority: हरियाणा में बनेने जा रही फार्मर प्रोड्यूसर्स ऑर्गेनाइजेशन पॉलिसी, किसानों को ऐसे होगा लाभ

Haryana Farmers Welfare Authority:
Advertisement

Haryana Farmers Welfare Authority:  हरियाणा सार्वजनिक उद्यम ब्यूरो के अध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि राज्य सरकार राज्य में किसानों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए हरियाणा किसान उत्पादक संगठन नीति का गठन करेगी। किसानों की जरूरत के मुताबिक पॉलिसी के नियम और शर्तों को सरल बनाया जाएगा।

Haryana Farmers Welfare Authority: घोषणा की

बराला ने चंडीगढ़ में हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण में हरियाणा किसान उत्पादक संगठन नीति पर विभिन्न हितधारकों की बैठक में यह घोषणा की। वह बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे. बराला हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण की कार्यकारी समिति के अध्यक्ष भी हैं।

Also Read: Gram Farming: चने की बंपर पैदावार के लिए किसान करें ये काम, होगा अच्छा मुनाफा

Advertisement
Haryana Farmers Welfare Authority:  प्रदेश अध्यक्ष बराला ने कहा

भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बराला ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल को किसानों के हितों की चिंता है। वह चाहते हैं कि राज्य के किसान आर्थिक रूप से मजबूत हों. वह ही चाहते थे कि हरियाणा किसान उत्पादक संगठन नीति को अंतिम रूप देने से पहले हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण की राय ली जाए। बराला ने कहा कि जहां अब तक अधिकांश किसान पारंपरिक खेती करते रहे हैं, वहीं समय की मांग है कि खेती को आधुनिक बनाया जाए और विपणन के माध्यम से अपनी उपज का बेहतर मूल्य प्राप्त किया जाए।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
चुनावी मौसम में किसानों को बड़ा तोहफ़ा! हरियाणा सरकार ने माफ किया बिजली  सरचार्ज – News18 हिंदी
Haryana Farmers Welfare Authority:  विभागों और किसानों से सुझाव लिए गए

बराला ने कृषि, बागवानी, मत्स्य पालन और पशुपालन विभागों, बैंक अधिकारियों, प्रगतिशील किसानों और अन्य हितधारकों के साथ विस्तृत चर्चा की और सुझाव मांगे। उन्होंने कुछ किसानों से परियोजना स्थापित करने में आने वाली समस्याओं के समाधान और अधिकतम आय प्राप्त करने के सुझाव भी लिये। हरियाणा सरकार इन दिनों पारंपरिक फसलों की जगह बागवानी की खेती को बढ़ा रही है। इस बीच, पशुपालन और मत्स्य पालन के विस्तार के प्रयास चल रहे हैं। इन दोनों क्षेत्रों में एफपीओ के फलने-फूलने की काफी संभावनाएं हैं।

Haryana Farmers Welfare Authority:  सरकार एफपीओ पर नीति बना रही है

बराला ने कहा कि “हरियाणा एफपीओ” के बिजनेस मॉडल की वर्तमान आवश्यकता और एफपीओ की समस्याओं पर चर्चा की गई है। उन्हें विश्वास है कि हरियाणा किसान उत्पादक संगठन नीति के भविष्य में अच्छे परिणाम आएंगे और किसानों को लगेगा कि राज्य सरकार उनके हित में काम कर रही है। बैठक में हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण के सीईओ भूपेन्द्र सिंह और बागवानी विभाग के निदेशक अर्जुन सैनी मौजूद रहे।

Advertisement

Also Read: What is Mawatha: देश के अधिकांश जगहों पर बरस रहा मावठा, जिससे फसलों को हो रहा फायदा

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
2021 में हरियाणा के किसानों को मिले 27 हजार करोड़, तमाम योजनाओं के जरिए  बढ़ाई जा रही उनकी आमदनी | haryana government paid 27000 crore directly to  farmers from various agriculture ...
Haryana Farmers Welfare Authority:  पैक हाउस बनाने पर जोर दिया जायेगा

एफपीओ को बढ़ावा देने के साथ-साथ हरियाणा में 545 एकड़ में अंतरराष्ट्रीय बागवानी बाजार स्थापित किया जा रहा है। फलों और सब्जियों की धुलाई, ग्रेडिंग और पैकेजिंग के लिए राज्य में 400 पैक हाउस बनाने की योजना है। इस पर करीब 2,500 करोड़ रुपये की लागत आएगी. जापान इंटरनेशनल कोऑपरेशन एजेंसी (JICA) ने परियोजना के लिए 1,900 करोड़ रुपये के दीर्घकालिक ऋण के लिए समझौता ज्ञापन को अंतिम रूप दिया है। पैक हाउस के निर्माण से हरियाणा के किसानों को अंतरराष्ट्रीय बाजारों में अपने कृषि उत्पादों के अच्छे दाम मिल सकेंगे और उनकी आय में वृद्धि होगी।

Advertisement
READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Wheat Price: बढ़ती महंगाई को रोकने के लिए भारत रूस से खरीदेगा गेहूं

Aapni Agri Desk

Wheat PGR experiment: गेहूं में पैदावार बढ़ाने वाला PGR का प्रयोग कब करें, जानें संपूर्ण जानकारी

Rampal Manda

प्राकृतिक खेती की ओर बढ़ा रुझान, तीन साल में 90 फीसदी कम हुई रासायनिक खाद की खपत

Aapni Agri Desk

Leave a Comment