Aapni Agri
कृषि यंत्र

Turmeric Harvester Machine: किसान ने बनाया देसी जुगाड़ से हल्दी हारवेस्टर, कुछ एक घंटे में ही होगी एक एकड़ फसल की खुदाई

Turmeric Harvester Machine:
Advertisement

Turmeric Harvester Machine:  कहते हैं कुछ भी नया वही करता अगर आपमें कुछ करने का जज्बा और जुनून हो और आप कुछ अलग करना चाहते हों तो उसे कोई नहीं रोक सकता। तमिलनाडु के इरोड जिले के ऐसे ही एक किसान हैं पी रामाराजू, जिन्होंने हल्दी की खेती करने वाले किसानों के लिए एक मशीन बनाई है। इस मशीन का उपयोग हल्दी की खुदाई के लिए किया जाता है. उन्होंने एक साल की कड़ी मेहनत के बाद यह देसी जगलिंग मशीन बनाई है।

दरअसल, धान की तरह ही हल्दी की खेती में भी काफी मेहनत और लागत लगती है क्योंकि निराई-गुड़ाई, उर्वरक का छिड़काव, हल्दी की गांठों की खुदाई और फिर उसकी सफाई में ज्यादा मजदूरों की जरूरत होती है। ऐसी ही समस्याओं को देखते हुए रामाराजू ने एक देसी मशीन बनाई है.

Also Read: Crime: 2 बच्चों की मां सुबह घर से गायब, फोन भी किया बंद

Advertisement
Turmeric Harvester Machine:  देसी हल्दी खोदने की मशीन

किसान रामाराजू ने अपनी मशीन और उसकी जरूरतों के बारे में बताते हुए कहा कि हल्दी की खेती में मजदूरों की कमी के कारण उन्हें काफी नुकसान हुआ है. इस नुकसान के बाद ही उन्होंने एक ऐसी मशीन बनाने के बारे में सोचा जो हल्दी की गांठों को जमीन से खोदकर निकाल दे ताकि बड़ी संख्या में मजदूरों की जरूरत न पड़े। अपने विचार को अमल में लाने के लिए उन्होंने एक इलेक्ट्रिक टिलर विकसित किया है।

Harvester Machine
Harvester Machine
Turmeric Harvester Machine:  सात घंटे में एक एकड़ की खुदाई

किसान पी रामाराजू ने कहा कि मशीन से खुदाई करने पर पूरी हल्दी निकलती है। हल्दी मशीन बहुत सारी मिट्टी भी हटा देती है। इस मशीन से किसान सात घंटे में एक एकड़ की खुदाई कर सकते हैं। ड्रिप सिंचाई प्रणाली वाले खेतों से हल्दी की खुदाई के लिए ये मशीनें बहुत उपयुक्त मानी जाती हैं।

Turmeric Harvester Machine:  “कर्मचारियों को राहत देने के लिए उपकरण”

रामाराजू ने बताया कि यह श्रमिकों से छुटकारा पाने का एक तंत्र है। इस मशीन से जहां एक एकड़ में हल्दी निकालने के लिए एक आदमी और 15 से 20 महिलाओं की जरूरत पड़ती है, वहीं बिना मशीन के हल्दी निकालने में कम से कम 80 लोगों की जरूरत पड़ती है। एक एकड़ हल्दी पैदा करने में मशीन की लागत 7,000 रुपये से 9,000 रुपये आती है। मशीन को एक घंटे तक चलाने में एक लीटर डीजल की खपत होती है, जिसे एक सामान्य किसान आसानी से वहन कर सकता है।

Advertisement

Also Read: Farming Tips: समय की मांग है बिना मिट्टी के खेती करना, ऐसे होगा संभव

Harvester Machine
Harvester Machine
Turmeric Harvester Machine:  मशीन की कीमत 30,000 रुपये है

देसी मशीन बनाने वाले राजू ने दक्षिण भारत के अलग-अलग राज्यों में इसकी प्रदर्शनी भी लगाई है. राजू द्वारा निर्मित इस मशीन की कीमत 30,000 रुपये है। किसान राजू अब तक 172 मशीनें बेच चुके हैं। राजू किसानों को मशीन चलाने के सुझाव भी देते हैं और जरूरत पड़ने पर मशीनों की सर्विसिंग के लिए किसानों के पास भी जाते हैं।

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

कृषि में इन मशीनरी का बढ़ रहा रुतबा, हाई हॉर्स पावर ट्रैक्टरों की बढ़ी मांग

Aapni Agri Desk

सरकार की ये पांच योजनाएं जो कृषि मशीनों पर देंगी 80% तक सब्सिडी

Bansilal Balan

बिना पेट्रोल-डीजल और बिजली के चलेगा यह ट्रैक्टर, जानें इसकी खासियत

Bansilal Balan

Leave a Comment