Aapni Agri
कृषि समाचार

Rabi season crops: जून तक मौसम गर्म रहने के संकेत, रबी फसलों पर विपरीत असर पड़ने की आशंका

Rabi season crops:
Advertisement

Rabi season crops: 2023 में, अलनीनो ने फसल उत्पादन पर प्रतिकूल प्रभाव डाला और पैदावार के अनुमानित आंकड़े कम कर दिए। 2023 में अल नीनो के कारण सूखा पड़ा और भारत में ख़रीफ़ फ़सल का उत्पादन 3 प्रतिशत गिर गया। वैश्विक मौसम एजेंसियों का अनुमान है कि 2024 में अल नीनो के कारण मौसम में अनियमितताएं जारी रहेंगी। अप्रैल-जून तक अलनीनो के तटस्थ रहने की उम्मीद है इसका मतलब है कि मौसम गर्म रहेगा, जिसका असर पैदावार पर पड़ सकता है.

Also Read: what is sugar recovery: कम चीनी र‍िकवरी ने बढ़ाई हर‍ियाणा सरकार की टेंशन, आख‍िर क्यों है सरकार चिंचित

Rabi season crops: अप्रैल-जून में अल नीनो जारी रहने के संकेत

अमेरिकी मौसम एजेंसी क्लाइमेट प्रेडिक्शन सेंटर ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि अक्टूबर और नवंबर 2023 में मध्य और पूर्व-मध्य प्रशांत क्षेत्रों में समुद्र की सतह का तापमान गड़बड़ा गया था, लेकिन दिसंबर में सुधार के सकारात्मक संकेत मिले। इस बीच, एजेंसियों ने कहा कि दिसंबर 2023 के दौरान अल नीनो का प्रभाव अधिक रहा, लेकिन अगले छह महीनों में इसके कमजोर होने की उम्मीद है। यह भी कहा जा रहा है कि अलनीनो अप्रैल-जून 2024 तक धीमा हो सकता है लेकिन इसका प्रभाव बने रहने की उम्मीद है।

Advertisement
रबी सीजन में करें इन फसलों की खेती, जानें पैदावार बढ़ाने का सही तरीका - rabi  season crop Cultivate these crops in Rabi season know how to get bumper  production -
Rabi season crops: फसल उत्पादन में 3 प्रतिशत की गिरावट

पिछले साल अल नीनो के कारण देश में दक्षिण-पश्चिम मानसून कमजोर हो गया था और इससे बड़े पैमाने पर खरीफ फसलों का उत्पादन प्रभावित हुआ था. रिपोर्ट के अनुसार, भारत का ख़रीफ़ उत्पादन 3 प्रतिशत गिर गया। कम मानसूनी बारिश के कारण जिन फसलों के उत्पादन में गिरावट देखी गई उनमें गन्ना, धान, मूंगफली और मूंगफली दालें शामिल हैं।

READ MORE  Central Government: किसान आंदोलन के बीच केंद्र सरकार ने दिया बड़ा फैसला, गेहूं खरीद का पैसा 48 घंटे में होगा खाते में
Rabi season crops: प्रतिकूल मौसमी के कारण रबी फसलों का क्षेत्रफल कम

वैश्विक मौसम पूर्वानुमानों से संकेत मिलता है कि देश के कुछ हिस्सों में रबी फसलों को गर्म मौसम से बचाने की आवश्यकता होगी। इन फसलों में गेहूं, जौ, चना, मसूर, मटर और सरसों शामिल हैं। इस साल गेहूं की बुआई का रकबा बढ़ा है और उत्पादन नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने की उम्मीद है।

Also Read: Haryana: ED के रडार पर हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेन्द्र सिंह हुड्डा, 14 दिन में 2nd बार पूछताछ

Advertisement
खेती के लिए जून तक मौसम गर्म रहने के संकेत, कुछ इलाकों में रबी फसलों पर  विपरीत असर दिखने की आशंका - Rabi crops to be face hot weather till June 2024
Rabi season crops: दलहन और धान की बुआई कम

हालांकि, पिछले साल मौसम की प्रतिकूल परिस्थितियों के कारण इस साल किसानों ने दलहन और धान की बुआई कम कर दी है। इससे 2022-23 सीज़न में धान का रकबा 29.33 लाख हेक्टेयर से घटकर 28.25 लाख हेक्टेयर हो गया है। इसी तरह दालों का रकबा पिछले साल के 162.66 लाख हेक्टेयर से घटकर 155.13 लाख हेक्टेयर रह गया है.

Advertisement
READ MORE  pesticides for crops: कीटनाशक बेचने के लिए केंद्र सरकार ने बनाया नया नियम, जान लें वर्ना नहीं मिलेगा लाइसेंस

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

El nino meaning: खत्‍म होने ही वाला है अल नीनो, जानें भारतीय किसानों को कैसे होगा फायदा

Rampal Manda

पिता के जख्मों को देखकर लड़के ने किया कुछ ऐसा काम, अब खाद डालनी हुई आसान

Aapni Agri Desk

Top Five Vegetables of February: फरवरी में लगाएं ये टॉप पांच सब्जियां, कम लागत में पाएं मोटी कमाई

Rampal Manda

Leave a Comment