Aapni Agri
कृषि समाचार

Rabi Crops: बेमौसम बारिश से गेहूं की फसल को हो रहा फायदा तो आलू की फसल को नुकसान, जानें बचाव का तरीका

Rabi Crops:
Advertisement

Rabi Crops:  बेमौसम बारिश ने जहां देश के कुछ राज्यों में लोगों की परेशानी बढ़ा दी है, वहीं गेहूं किसानों के चेहरे पर मुस्कान ला दी है। हल्की बारिश से रबी फसलों को फायदा होगा। गेहूं को अभी भी पहली या दूसरी सिंचाई की जरूरत है। बारिश से गेहूं की फसल को फायदा हुआ। इसका चना, मसूर समेत अन्य दलहनों पर सकारात्मक असर पड़ेगा। सरसों, थीस्ल समेत तिलहनी फसलों को भी फायदा होगा।

Also Read: Farming Tips: शीतलहर व पाले से फसलों को बचाने का सबसे आसान तरीका, फसल पर नहीं होगा ठंड का असर

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
बेमौसम बरसात ने आलू सरसों गेहूं की फसलों को किया बर्बाद - Today's News
Rabi Crops:  कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार

कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार अभी मौसम गेहूं के लिए अच्छा है। कुछ स्थानों पर हल्की बारिश से गेहूं की सिंचाई में सुविधा हुई है। हालांकि थोड़ी और बारिश होती तो गेहूं की अच्छी सिंचाई हो जाती। जहां नवंबर में गेहूं बोया गया था, वहां दूसरी सिंचाई का समय आ गया है, जबकि दिसंबर के मध्य तक, जहां गेहूं बोया गया है, वहां पहली सिंचाई का समय आ गया है। ठंड का मौसम गेहूं की फसल के लिए भी अनुकूल है।

Advertisement
Rabi Crops: बेमौसम बारिश से आलू को नुकसान

बेमौसम बारिश से जहां गेहूं और दलहन जैसी फसलों को फायदा होगा, वहीं आलू प्रभावित होगा। उच्च आर्द्रता से आलू की फसल में बीमारियों का प्रकोप बढ़ने की संभावना है। आलू की फसल में झुलसा रोग का खतरा बढ़ गया है। किसान आलू में इस रोग का समय पर प्रबंधन कर नुकसान से बच सकते हैं।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Also Read: Army School Admission: अपने बच्चे को बनाना चाहते हैं आर्मी ऑफिसर तो इस स्कूल में कराएं एडमिशन, जानें फीस और प्रक्रिया

बेमौसम बरसात : प्रभावित होंगी फसलें, जानें किसे फायदा और कहां होगा नुकसान,  ऐसे करें बचाव - Unseasonal Rain: Crops Will Be Affected, Know Who Will  Benefit And Where There Will Be
Rabi Crops:  फसल में रोग लक्षण दिखाई देने पर ये करें

फसल में रोग के लक्षण दिखाई देते ही जिनेब 75% घुलनशील पाउडर 2.0 किग्रा/हेक्टेयर या मैंकोजेब 75% घुलनशील पाउडर 2 किग्रा/हेक्टेयर या कॉपर ऑक्सीक्लोराइड 50% घुलनशील पाउडर 2.5 किग्रा/हेक्टेयर पानी में मिलाकर छिड़काव करें।

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Agriculture News: बारिश की वजह से इन फसलों को खतरा, जानें कैसे करें बचाव

Rampal Manda

Sugarcane Farming: गन्ना कटाई में ये लापरवाही कर रही किसानों का बड़ा नुकसान, इस टिप्स से बढ़ाएं चीनी रिकवरी दर

Rampal Manda

Chia Seeds Farming: किसानों करें चिया सीड्स की खेती, ये सीड्स है मुनाफे का सौदा

Rampal Manda

Leave a Comment