Aapni Agri
कृषि समाचार

Nano Fertilizer: लॉन्च हुआ नैनो यूरिया और डीएपी, किसानों को ऐसे मिलेगा फायदा

Nano Fertilizer:
Advertisement

Nano Fertilizer:  अग्रणी कृषि समाधान प्रदाता जुआरी फार्महब लिमिटेड ने आज नैनो पावर नैनो यूरिया और नैनो पावर नैनो डीएपी के रूप में अपने नैनो उर्वरकों का अनावरण किया। ZFHL को सरकार से नैनो यूरिया और नैनो DAP जैसे नैनो उर्वरक बनाने की मंजूरी मिल गई है. 29 नवंबर, 2023 के भारत के राजपत्र अधिसूचना के तहत, इन नैनो उर्वरकों को फसल की पैदावार बढ़ाने और मिट्टी के स्वास्थ्य में सुधार के लिए डिज़ाइन किया गया है।

Also Read: Viral: पाकिस्तान की एकमात्र हिंदू रियासत, यहां के दबंग राजा आज भी लहराते हैं भगवा झंडा, डरती है सरकारें

government approves commercial release of nano dap sale will start before  kharif season notification issued soon | नैनो डीएपी के व्यावसायिक इस्तेमाल  को मंजूरी, खरीफ सीजन से पहले शुरू होगी ...
Nano Fertilizer:  ज़ुआरी फार्महब

ज़ुआरी फार्महब ने अत्याधुनिक हरित नैनो जैव-प्रौद्योगिकी का उपयोग करके द एनर्जी एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (टीईआरआई) के सहयोग से नैनो उर्वरक विकसित किया है। नैनो उर्वरक नैनो आकार के पोषक कण होते हैं जो पौधों द्वारा आसानी से अवशोषित हो जाते हैं, जिससे पोषक तत्वों का बेहतर उपयोग होता है और बर्बादी कम होती है।

Advertisement
Nano Fertilizer:  बेहतर पोषक तत्व ग्रहण

नैनो आकार के कण पौधों की कोशिका दीवारों में आसानी से प्रवेश कर जाते हैं, जिससे तेजी से और अधिक कुशल पोषक तत्व वितरण सुनिश्चित होता है, जिससे स्वस्थ और अधिक उत्पादक फसलें प्राप्त होती हैं।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
फसल की पैदावार में वृद्धि

पोषक तत्वों के बेहतर सेवन से स्पष्ट रूप से उच्च फसल की पैदावार होती है, जिससे किसानों को अपने उत्पादन और आय को अधिकतम करने का अधिकार मिलता है।

Nano Fertilizer:  उर्वरकों का कम उपयोग

नैनो उर्वरकों को पारंपरिक उर्वरकों की तुलना में काफी कम उपयोग की आवश्यकता होती है, जिससे किसानों की महत्वपूर्ण लागत बचती है और पर्यावरणीय प्रभाव कम होता है।

Advertisement
एक क्रांतिकारी प्रौद्योगिकी का विपणन

इन नैनो उर्वरकों का विपणन विशेष रूप से पारादीप फॉस्फेट्स लिमिटेड (पीपीएल) द्वारा जय किसान नवरत्न नैनो शक्ति के ब्रांड नाम के तहत किया जाएगा। यह कदम देश भर के किसानों तक प्रौद्योगिकी की व्यापक पहुंच सुनिश्चित करेगा।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
Nano Fertilizer:  स्थायी भविष्य के लिए हरित सहयोग

जेडएफएचएल के एमडी मदन पांडे ने कहा, “नैनो उर्वरकों का विकास हरित नैनो जैव प्रौद्योगिकी की परिवर्तनकारी शक्ति का प्रमाण है। इस क्षेत्र में टीईआरआई की विशेषज्ञता ने जुआरी फार्महब की टिकाऊ कृषि के प्रति प्रतिबद्धता के साथ मिलकर एक ऐसी तकनीक तैयार की है जो भारतीय कृषि में क्रांति ला सकती है। यह सहयोग कृषि इनपुट उद्योग के लिए हरित भविष्य की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम का प्रतिनिधित्व करता है।

iffco nano dap notified under fertilizer control order road cleared for  commercial production | इफको नैनो डीएपी किसानों को जल्दी मिलने का रास्ता  हुआ साफ, एफसीओ के तहत अधिसूचित ...

Advertisement

जुआरी फार्महब के नैनो उर्वरकों का लॉन्च भारतीय कृषि के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है। पैदावार बढ़ाने की अपनी क्षमता के साथ, यह तकनीक किसानों और पूरे देश के लिए अधिक समृद्ध और टिकाऊ भविष्य बनाने की शक्ति रखती है।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Also Read: Berseem farming: पशुओं के लिए पोषक भरा ओर रसीला चारा है बरसीम, जानें पशुओं के लिए कितना फायदेमंद

Nano Fertilizer:  जुआरी फार्महब के बारे में

ज़ुआरी फार्महब लिमिटेड (एडवेंट्ज़ ग्रुप का हिस्सा) कृषि और संबद्ध सेवाओं के क्षेत्र में एक कृषि तकनीक उद्यम है। “जय किसान” ब्रांड के लिए प्रसिद्ध, ज़ुआरी फार्महब भारत में सबसे बड़ी कृषि खुदरा श्रृंखलाओं में से एक का संचालन करता है और एक व्यापक कृषि इनपुट उत्पाद पोर्टफोलियो प्रदान करता है जो सूक्ष्म पोषक तत्वों, मिट्टी सहित फसलों के संपूर्ण जीवनचक्र के लिए पोषण और सुरक्षा प्रदान करता है।

Advertisement

ज़ुआरी फार्महब का मिशन किसानों और अन्य खेती से संबंधित हितधारकों को उनकी सभी परिचालन आवश्यकताओं के लिए एकीकृत कृषि समाधान प्रदान करके मूल्य बनाने के लिए सटीक खेती के तरीकों में नवीनतम तकनीकों और प्रगति का निर्माण और लाभ उठाना है।

Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Potato farming: कड़ाके की ठंड से आलू की फसल हो रही खराब, जानें इसे बचाने के कारगर उपाय

Rampal Manda

Neem Organic Insecticide: घर में नीम से बनाएं जैविक कीटनाशक, जानें बनाने की विधि

Rampal Manda

Potato cultivation: लेट ब्लाइट रोग से आलू की फसल हुई नष्ट, मंडी में 4 रुपये किलो बिक रहा आलू

Rampal Manda

Leave a Comment