Aapni Agri
कृषि समाचार

kills hair lice: सिर के जूं मारने वाली दवा सरसों और ज्वार का कीट को कर सकती है खत्म, जानें कैसे प्रयोग करें

kills hair lice:
Advertisement

kills hair lice:  आपने मेलाथियान दवा के बारे में सुना होगा। यह वही दवा है जिसका उपयोग बालों की जूँ को मारने के लिए किया जाता है। मेलाथियान का उपयोग बालों की जूं मारने में किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह दवा फसलों के लिए भी रामबाण साबित हो चुकी है। जहां तक ​​इस दवा का सवाल है,

kills hair lice: मेलाथियान लोशन

मेलाथियान लोशन सिर की जूँ संक्रमण के इलाज के लिए अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) द्वारा बताई गई एक प्रिस्क्रिप्शन दवा है। सिर की जूँ के इलाज के लिए मेलाथियान को एक सुरक्षित और प्रभावी दवा माना जाता है। लेकिन इससे फसलों को भी फायदा होता है. विशेषकर सरसों और ज्वार की खेती में। इस दवा से इन दोनों फसलों के कीट आसानी से मर जाते हैं।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Also Read: Delhi ED raid: दिल्ली में 12 जगहों पर ED की छापेमारी जारी, जानें क्या है दिल्ली जल बोर्ड घोटाला?

Advertisement
kills hair lice:  सरसों की फसल

सबसे पहले सरसों की बात करें तो यह इस समय कीट प्रभाव से गुजर रही है। फूल आने के दौरान सरसों कीटों के प्रति अतिसंवेदनशील होती है। ऐसे में किसानों को इससे बचने के हर संभव उपाय ढूंढने चाहिए. यदि समय रहते कीटों पर नियंत्रण कर लिया जाए तो किसान अच्छी पैदावार प्राप्त कर सकते हैं। माहू कीट से सरसों सबसे अधिक प्रभावित होती है। कृषि वैज्ञानिकों का कहना है कि माहू कीट सरसों के पौधों के कोमल तने, पत्तियों, फूलों और नई फलियों से रस चूसकर उन्हें कमजोर और नष्ट कर देते हैं।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
बालों का जूं मारने वाली दवा सरसों और ज्वार का कीट भी मार सकती है, बस ऐसे  करना होगा प्रयोग - Medicine that kills hair lice can also kill mustard and  sorghum
kills hair lice:  माहू कीट का आक्रमण

जब माहू सरसों पर हमला करता है तो मधु भी स्रावित करता है जो तनों और पत्तियों पर चिपचिपा दिखता है। इस मधु से सरसों पर फंगस का प्रकोप होता है। इससे पत्तियों की प्रकाश संश्लेषक प्रक्रिया में बाधा आती है। किसानों को ध्यान रखना चाहिए कि इस कीट का प्रकोप दिसंबर-जनवरी से मार्च तक देखा जाता है। इसलिए किसानों को अब सबसे अधिक सावधान रहना चाहिए।

खरीफ में ज्वार की खेती में उर्वरक प्रबंधन

Advertisement

इसकी रोकथाम के लिए कृषि वैज्ञानिक सरसों में मेलाथियान का छिड़काव करने की सलाह देते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि सरसों के कीटों को मारने के लिए 250 से 500 मिमी मेलाथियान 50ईसी को 250 से 500 लीटर पानी में मिलाकर एक एकड़ में छिड़काव किया जा सकता है। 07 से 10 दिन के अंतराल पर दूसरा छिड़काव करने की सलाह दी जाती है।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Also Read: Animal Husbandry: अगर पशुओं का दूध बढ़ाना है तो गर्मी में करें ये काम, दूध होगा बम्पर

kills hair lice:  कीट नियंत्रण के उपाय

इस कीट के नियंत्रण के लिए जब 90% पौधे गमलों से बाहर आ जाएं तो मेलाथियान 50 ईसी (1 लीटर प्रति हेक्टेयर) तरल कीटनाशक को 500-600 लीटर पानी में मिलाकर खेत में छिड़काव करें। यदि आवश्यक हो तो 10-15 दिन बाद छिड़काव दोहराएँ। यदि तरल कीटनाशक उपलब्ध न हो तो मेलाथियान 5% चूर्ण 12 से 15 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर की दर से प्रयोग करें। इससे ज्वार के डंठल के कीट खत्म हो जायेंगे।

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

suggestions for use in wheat: गेंहू मे कद रोकने वाली दवाई के जानें दुष्प्रभाव, क्या दवाई डालना सही या गलत

Rampal Manda

Farmers Protest: मंत्र‍ियों और क‍िसान संगठनों के बीच हुई बैठक में क्या फैसला हुआ, जानें क्या है क‍िसानों का प्लान

Rampal Manda

Decomposer: पराली को खाद में बदल देगा ये कैप्सूल, बढ़ जायेगी जमीन की उर्वरा शक्ति

Aapni Agri Desk

Leave a Comment