Aapni Agri
कृषि विशेषज्ञ सलाह

Farmers’ Income: किसान इन पांच तरीकों से बचत के साथ बढ़ा सकते हैं अपनी उपज, जानिए टिप्स

farmers' income
Advertisement

Farmers’ Income: भारत एक कृषि प्रधान देश है इसलिए यहां बड़े पैमाने पर खेती की जाती है। देश की आबादी का एक बड़ा हिस्सा कृषि पर निर्भर है और खेती से अपना जीवन यापन करता है। भारतीय किसानों की हालत बहुत अच्छी नहीं है. इसके पीछे कई कारण हैं, जिनमें से एक यह है कि कई किसान आज भी पुराने तरीके से ही खेती करते हैं। इसलिए हम पांच ऐसे टिप्स बता रहे हैं जिनकी मदद से पैदावार बढ़ाई जा सकती है.

Also Read: Kankrej Breed Cow: ये गाय देती है 1800 लीटर दूध, जानें इसको पालने के फायदे

Farmers’ Income: कृषि क्षेत्र में व्यापक बदलाव देखने को मिल रहे हैं. सफल खेती के लिए यह बहुत जरूरी है कि किसान बदलती दुनिया में खुद को अपडेट करते रहें। फसलों की पैदावार कम होने के कारण किसानों को उनकी मेहनत का लाभ नहीं मिल पाता है। यहां हम पांच टिप्स के बारे में जानकारी दे रहे हैं. जिससे किसानों को काफी लाभ मिलेगा.

Advertisement

<yoastmark class=

Farmers’ Income: खेतों में झाड़ियाँ जलाने से बचें

अक्सर फसल की कटाई के बाद सुनसान खेतों में झाड़ियाँ उग आती हैं। इसके चलते जब किसान दोबारा फसल बोने जाते हैं तो झाड़ियों से छुटकारा पाने के लिए उनमें आग लगा देते हैं। लेकिन, इससे मिट्टी की उर्वरता पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। बेहतर होगा कि इसे एकत्र कर खाद के रूप में उपयोग किया जाए।

READ MORE  Mustard cultivation: उन्नत कृषि क्रियाएं अपनाकर सरसों की पैदावार को बढ़ायें, किसानों को दी खास सलाह

Also Read: Chanakya Niti: जवान भाभियों को अपने वश मे करने के आसान टिप्स, एक झटके में होगी तैयार

Advertisement
Farmers’ Income: बदलती टेक्नोलॉजी के साथ खुद को अपडेट रखें

कृषि क्षेत्र में तेजी से बदलाव हो रहे हैं। साल दर साल मशीनों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है, ताकि खेती करना आसान हो जाए। किसानों को इससे हमेशा अपडेट रहने की जरूरत है। तभी किसान भी अपने काम में इसका लाभ उठा सकेंगे. इससे उनकी लागत और समय दोनों की बचत होगी.

<yoastmark class=

मिट्टी की जांच कराएं

Farmers’ Income: मिट्टी की जांच करानी चाहिए क्योंकि इससे पता चल जाएगा कि फसल और मिट्टी को कितने पोषण की जरूरत है। इससे किसान खाद के साथ-साथ उर्वरकों और पोषक तत्वों की सही मात्रा का छिड़काव कर सकेंगे।

Advertisement

Also Read: Goat Farming: बकरियों की ये 5 नस्लें बढ़ायेगी आपकी कमाई, जानें इनकी विशेषताएं

READ MORE  Advisory for Farmers: इतने तापमान पर फैलता है पीला भूरा और काला रतुआ रोग, जानें कैसे बचाएं अपनी फसल को
घर पर बीज तैयार करें

किसान बुआई के लिए बाजार से बीज खरीदते हैं। इससे उनका समय बचता है. लेकिन इनमें से अधिकतर बीज प्रमाणित नहीं होते और उत्पादन 10% कम होता है. इसलिए किसानों को स्वयं बीज तैयार कर उपयोग करना चाहिए। इससे वह आधा खर्च बचा सकते हैं.

<yoastmark class=

Advertisement
बची हुई फसल से पोषण मिलेगा

Farmers’ Income: खेतों में बची फसलों को जलाने से बेहतर है कि उन्हें वैसे ही छोड़ दिया जाए. उसे बिना कुछ किये खेत जोतना चाहिए। बारिश में भीगने पर यह फिर से खाद का काम करेगा। इस तरह किसान कचरे को भी पोषक तत्वों से भरपूर सामग्री में बदल सकते हैं।

READ MORE  Mustard cultivation: उन्नत कृषि क्रियाएं अपनाकर सरसों की पैदावार को बढ़ायें, किसानों को दी खास सलाह

Also Read: Chanakya Niti: सातीर महिलाओं की ये होती है पहचान, जानें क्या कहा है चाणक्य ने ऐसी महिलाओं के बारे में

 

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Advisory for Wheat Crop: गेहूं में लगने वाले रतुआ रोग का रामबाण इलाज, जानें यहाँ

Rampal Manda

Mustard Wheat Gram: सरसों गेहू और चना सहित इन फसलो में करें ये काम, आमदन होगी दुगुनी

Rampal Manda

मानसून से पहले तैयारी करें किसान, 4 गुना होगी धान की पैदावार

Aapni Agri Desk

Leave a Comment