Aapni Agri
कृषि समाचार

Blight Disease: फसलों को जड़ से खत्म कर रहा झुलसा रोग, जानें बचाव उपाय

Blight Disease:
Advertisement

Blight Disease:  सर्दी के इस मौसम में कोहरे की शुरुआत होती है। बदलते मौसम और घने कोहरे का असर न सिर्फ आम जनजीवन पर पड़ रहा है, बल्कि फसलों पर भी पड़ रहा है. ऐसे में कोहरा का मौसम किसानों के लिए परेशानी का सबब बन सकता है. कोहरा बढ़ता जा रहा है और पाला पड़ना शुरू हो गया है। इससे फसलों में रोग लग जाते हैं और फसलें नष्ट हो जाती हैं। ये किसान के लिए बड़ा नुकसान हो सकता है.

Also Read: RajNiti: ’अगर मुझे पार्टी से निकाला गया तो मैं कोरोना में हुए घोटालों का पर्दाफाश करूंगा’, बीजेपी विधायक ने दी खतरनाक चेतावनी

Blight Disease:  इटावा आर.एन सिंह ने क्या कहा

अपनी फसलों को बचाने के बारे में जानकारी देते हुए कृषि उपनिदेशक, इटावा आर.एन सिंह ने बताया कि इटावा जिले में सबसे अधिक पैदावार 80,000 हेक्टेयर कृषि भूमि पर गेहूं, 25,000 हेक्टेयर कृषि भूमि पर सरसों और 25,000 हेक्टेयर में आलू की फसल होती है.

Advertisement
Blight Disease
Blight Disease
Blight Disease:  झुलसा रोग का खतरा मंडरा रहा है

यदि किसान इस मौसम में जल्दी ही अपनी फसल की सुरक्षा के उपाय कर ले तो वह फसल को रोगमुक्त रख सकता है। उन्होंने कहा कि इस समय घने कोहरे के कारण झुलसा रोग के कारण आलू, मटर, गेहूं और सरसों की फसलें पाले से प्रभावित हो सकती हैं।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

इसके संकेत के तौर पर पत्तियां पीली पड़ने लगती हैं और पौधों में पानी सूखने लगता है. इससे फसल नष्ट हो जाती है और भारी क्षति होती है। इससे मुख्य रूप से कोहरे और पाले से बचने के लिए खेतों के आसपास पत्तियां जलाने से कोहरे और पाले का प्रभाव कम होगा। इसके अलावा क्षेत्र में आलू में झुलसा रोग भी देखा जा रहा है। इससे बचने के लिए आलू, गेहूं और मटर में हल्की सिंचाई भी कर सकते हैं.

Blight Disease:  बीमार पड़ने से पहले करें ये इलाज

रोग लगने से पहले कोहरे में आलू की फसल में प्रति हेक्टेयर 500 लीटर पानी में 2.5 किलोग्राम मैन्कोजिफ का छिड़काव करने से रोग से बचाव होता है। क्योंकि अगर आप बीमार पड़ गए तो दवा का कोई असर नहीं होता.

Advertisement

Also Read: Biggest Enemy Mustard: सरसों की फसल के सबसे बड़े दुश्मन से निपटने के लिए अपनाएं यह तरीका

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
Blight Disease:  मटर की फसल पर छिड़काव करें

इसी प्रकार मटर की फसल पर 1 किलोग्राम कार्बोडाइजिंग दवा प्रति हेक्टेयर 500 लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें. हालाँकि, सरसों की फसल पर माहो कीट का हमला होता है, जो सरसों की फसल को फलियाँ बनने से रोकता है। ऐसे में सरसों की फसल को बचाने के लिए बाजार से नीम युक्त दवा खरीदें।

Blight Disease
Blight Disease

इस मौसम में फसलें बैक्टीरिया और वायरस से प्रभावित होती हैं। ऐसे में अगर जल्दी ध्यान दिया जाए तो फसलों को बचाया जा सकता है। इस मौसम में कीटनाशकों का प्रयोग करना पड़ सकता है। ताकि किसान की मेहनत बच सके।

Advertisement
Advertisement
READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Mustard Variety: सरसों की ये 5 उन्नत किस्में जो हो जाती है चार महीने में तैयार, ओर आमदन भी बम्पर

Rampal Manda

प्राकृतिक खेती की ओर बढ़ा रुझान, तीन साल में 90 फीसदी कम हुई रासायनिक खाद की खपत

Aapni Agri Desk

Fertilizers: सल्फर कोटेड यूरिया को लॉन्च करने के प्रस्ताव को मिली मंजूरी, जानें क्या होगी कीमत

Rampal Manda

Leave a Comment