Aapni Agri
पशुपालन

Animal Husbandry: दुधारू पशुओं को खिलाएं यह चारा बढ़ेगा दूध, सूखी गाय-भैंसों का आहार भी जानें

Animal Husbandry:
Advertisement

Animal Husbandry: सफल पशुपालन और सफल डेयरी फार्मिंग के लिए ये दो चीजें जरूरी हैं। एक बेहतर पशु स्वास्थ्य और दूसरा बेहतर दूध उत्पादन। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जानवरों की देखभाल, साफ-सफाई, आहार, स्वास्थ्य और चलने-फिरने पर बहुत ध्यान देने की आवश्यकता है। कई लोग जानवरों को इंजेक्शन और दवाइयां भी देते हैं, जो जानवरों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते हैं। ऐसे मामलों में पशुचिकित्सक भी स्थानीय और घरेलू उपचार अपनाने की सलाह देते हैं, जो जानवरों के लिए पूरी तरह से सुरक्षित हैं और किसानों को इन पर कोई अतिरिक्त पैसा खर्च करने की आवश्यकता नहीं है। ऐसे में आइए जानते हैं दूध बढ़ाने के लिए डेयरी मवेशियों को क्या खिलाएं।

Also Read: White Roli disease: सरसों की फसल में लग रही यह नई बीमारी, जानें लक्षण और बचाव उपाय

READ MORE  Animal Care: गर्मियों में पशुओं की ऐसे करें देखभाल, यहाँ जानें जरूरी टिप्स
धूप और लू से पशुओं को कैसे बचायें
Animal Husbandry: इस भोजन को दुधारू पशुओं को खिलाएं

डेयरी पशुओं के आहार में दालों और गैर-दालों का मिश्रण शामिल होना चाहिए। पांच लीटर तक दूध देने वाले पशुओं को केवल अच्छी गुणवत्ता वाला हरा चारा खिलाने से अच्छा दूध प्राप्त किया जा सकता है। पांच लीटर से अधिक दूध देने वाले पशुओं के लिए 1 कि.ग्रा. अनाज अधिक देना चाहिए. यदि अनाज एक भाग खली, एक भाग अनाज और एक भाग चोकर है, तो यह संतुलित और सस्ता है।

Advertisement
Animal Husbandry: खनिज लवण

अनाज में 2 प्रतिशत खनिज लवण और 1 प्रतिशत नमक का होना बहुत जरूरी है। बरसीम तथा अन्य फलीदार चारे को भूसे के साथ मिला देना चाहिए। इससे पशुओं में अशांति नहीं होती। पशुओं को अनाज और चारे का मिश्रण खिलाना चाहिए या शुद्ध किया जा सकता है। सुनिश्चित करें कि प्यूरी बनाने से पहले चारे को टुकड़ों में काट लिया जाए, अन्यथा जानवर अपना पसंदीदा हिस्सा चुन लेगा और खा जाएगा और अपने पीछे मोटे या अधिक रेशेदार टुकड़े छोड़ देगा।

READ MORE  Agricultural News: PM मोदी ने गाय और भैंस के साथ साथ किसानों को दी बकरी पालने की सलाह, जानें क्यों
Animal Husbandry: सूखी गायों का आहार क्या है

जो गाय या भैंस दूध नहीं दे रही हैं उन्हें कम चारे की आवश्यकता होती है। इस अवस्था में उनकी अधिकतम आवश्यकता 6-8 घंटे चरने के बाद पूरी हो जाती है। यदि चारागाह अच्छा न हो तो सूखे चारे के साथ 1-1.50 कि.ग्रा. डालें। प्रतिदिन पशुओं को दाना मिलाकर खिलाना चाहिए। इस प्रकार के पशुओं को यूरिया उपचारित भूसा खिलाकर दान बचाया जा सकता है।

पशुओं के लिए उचित संतुलित आहार व्यवस्था – ई-पशुपालन
Animal Husbandry: पशुओं को निम्नानुसार भोजन खिलाएं

पशुओं को केवल हरा चारा खिलाने से दूध उत्पादन नहीं बढ़ेगा, इसलिए हरे चारे या सूखे चारे के साथ-साथ खनिज और कैल्शियम की भी आपूर्ति करें। इसके लिए पशु विशेषज्ञों से सलाह लेकर चारे के साथ प्रो पाउडर, मिल्क बूस्टर, मिल्कगेन आदि खिला सकते हैं।

Advertisement

Also Read: Chandigard: ट्रेन से दिल्ली के लिए रवाना हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री, रास्ते में मीडिया के सामने बोली ये बात

READ MORE  drive away Nilgai: अंडे से बनाएं ये खास दवा और फसलों पर करें छिड़काव, आपके खेत में नहीं आयेगी नीलगाय
Animal Husbandry: कितना पशु आहार तैयार करना है

केवल संतुलित आहार से ही पशु स्वास्थ्य और दूध उत्पादन में सुधार हो सकता है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पशु को प्रतिदिन 20 किलोग्राम चारा खिलाना आवश्यक है। पशुओं को हरा चारा, 4 से 5 किलो सूखा चारा और 2 से 3 किलो अनाज और दालों का मिश्रण खिलाएं।

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Treatment Of Pneumonia: डेयरी पशुओं के लिए पाला बना सर दर्द, निमोनिया बीमारी दे रही दस्तक

Rampal Manda

Foot and mouth disease: खुरपका-मुंहपका रोग का बढ़ा खतरा, दुधारू पशुओं को जल्द कराएं टीकाकरण

Rampal Manda

गाय-भैंस और बकरी पालने से पहले जानें किसका दूध होता है सबसे बढ़िया, जानें पूरी डिटेल

Bansilal Balan

Leave a Comment