Aapni Agri
कृषि यंत्रयोजनाएं

Agricultural Equipment Grant Scheme: सुपर सीडर और हैप्पी सीडर पर मिलेगी भारी सब्सिडी, यहां करें आवेदन

Advertisement

Agricultural Equipment Grant Scheme: किसानों को सस्ती दरों पर आधुनिक कृषि उपकरण उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सरकार द्वारा कृषि उपकरण अनुदान योजना चलाई जा रही है। इसके तहत राज्य के किसानों को खेती में इस्तेमाल होने वाली कृषि मशीनों पर सब्सिडी दी जा रही है. वर्तमान में राज्य के किसानों को मांग के अनुरूप यानि डिमांड के आधार पर 15 प्रकार के कृषि यंत्रों/कृषि मशीनों पर सब्सिडी दी जा रही है, जिसमें सुपर सीडर और हैप्पी सीडर भी शामिल हैं। राज्य के जो किसान सब्सिडी पर सुपर सीडर या हैप्पी सीडर मशीन प्राप्त करना चाहते हैं, वे इसके लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

Also Read: LPG Cylinder: महिलाओं को अब मिलेगा गैस सिलेंडर 450 में, यहां करें आवेदन

आवेदन के लिए कोई अंतिम तिथि निर्धारित नहीं की गई है, इसलिए किसानों की मांग के आधार पर बजट के अनुसार लक्ष्य निर्धारित किया जाएगा। ऐसे में राज्य के किसान सुपर सीडर और हैप्पी सीडर के लिए आवेदन कर सकते हैं और सब्सिडी का लाभ उठा सकते हैं. राज्य सरकार द्वारा कृषि उपकरणों की खरीद पर 50 प्रतिशत तक सब्सिडी दी जाती है. ऐसे में किसानों को ये कृषि मशीनें बेहद सस्ते दामों पर मिल सकती हैं.

Advertisement
Agricultural Equipment Grant Scheme
Agricultural Equipment Grant Scheme

Agricultural Equipment Grant Scheme: आज हम जानेंगे कि सुपर सीडर/हैप्पी सीडर क्या है, इस पर कितनी सब्सिडी मिलेगी, सुपर सीडर/हैप्पी सीडर का बाजार मूल्य क्या है, इन कृषि यंत्रों को सब्सिडी पर प्राप्त करने के लिए आवेदन कैसे करें, किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी आवेदन पत्र। अन्य बातों की जानकारी दे रहे हैं. तो आइए जानते हैं सुपर सीडर और हैप्पी सीडर पर मिलने वाली सब्सिडी के बारे में पूरी जानकारी।

Also Read: Ayushman Yojana: आयुष्मान भारत-चिरायु हरियाणा योजना के तहत उठाए 5 लाख तक मुफ़्त ईलाज का लाभ

सुपर सीडर/हैप्पी सीडर क्या है?

सुपर सीडर ट्रैक्टर के साथ मिलकर चलने वाली एक कृषि मशीन है, जिसके माध्यम से धान या गेहूं की कटाई के बाद फसल के अवशेषों को खेत में ही फैला दिया जाता है जो खाद में बदल जाता है। इससे न केवल भूमि की उर्वरा शक्ति बढ़ती है। साथ ही पैदावार भी अच्छी होती है. खास बात यह है कि फसल अवशेषों को खाद में बदलने से पराली जलाने की समस्या खत्म हो जाती है।

Advertisement

हैप्पी सीडर मशीन की सहायता से किसान धान की कटाई के बाद फसल अवशेषों के साथ गेहूं की भी बुआई कर सकते हैं। इस मशीन की खास बात यह है कि यह बुआई के दौरान सिंचाई में लगने वाले पानी की बचत करती है। इसमें पराली गीली घास की तरह काम करती है, जिससे पराली जलाने की जरूरत नहीं पड़ती. इससे पैदावार भी अच्छी मिलती है.

READ MORE  PM kisan news: पीएम किसान की किस्त में हो सकती है धोखाधड़ी, तुरंत करें e-KYC
Agricultural Equipment Grant Scheme: सुपर सीडर/हैप्पी सीडर पर कितनी सब्सिडी दी जाएगी?

राज्य सरकार राज्य के किसानों को कृषि उपकरणों पर श्रेणीवार सब्सिडी का लाभ प्रदान करती है। इसके तहत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और महिला किसानों को कृषि उपकरणों की खरीद पर 50 फीसदी तक सब्सिडी दी जाती है. इसके अलावा सामान्य किसानों को 40 फीसदी सब्सिडी दी जाती है. राज्य के जो किसान कृषि उपकरणों की खरीद पर सब्सिडी का लाभ लेना चाहते हैं, वे ई-कृषि उपकरण अनुदान पोर्टल पर उपलब्ध सब्सिडी कैलकुलेटर से कृषि उपकरणों की लागत के अनुसार गणना कर सकते हैं। आप सब्सिडी की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Also Read: Subsidy: गाय पालन व पशु शेड निर्माण के लिए सरकार दे रही 90% सब्सिडी, जानें कौन हैं पात्र

Advertisement
सुपर सीडर और हैप्पी सीडर की कीमत क्या है?

Agricultural Equipment Grant Scheme: बाजार में कई कंपनियों के सुपर सीडर और हैप्पी सीडर उपलब्ध हैं जिनकी कीमत ब्रांड और मॉडल के अनुसार अलग-अलग होती है। बाजार में सुपर सीडर की कीमत 80,000 रुपये से शुरू होकर 2.99 लाख रुपये तक है. जबकि हैप्पी सीडर की कीमत 1.58 से 2.53 लाख रुपये तक है. बाजार में केएस ग्रुप कंपनी के जगजीत हैप्पी सीडर, दशमेश, फील्डकिंग, मलकित, हैप्पी सीडर किसानों के बीच काफी लोकप्रिय हैं। वहीं सुपर सीडर्स में माशियो गैस्पर्डो, केएस ग्रुप, शक्तिमान के सुपर सीडर्स काफी पसंद किए जा रहे हैं। लेकिन किसानों को कृषि विभाग की सूची में शामिल कंपनियों के सुपर सीडर और हैप्पी सीडर की खरीद पर ही सब्सिडी का लाभ दिया जाएगा। इसलिए सुपर सीडर कृषि विभाग की सूची में शामिल कंपनी के डीलर से ही खरीदना चाहिए।

READ MORE  Tractor Insurance: किसानों के लिए ट्रैक्टर इंश्योरेंस क्यों है खास, जानें कैसे
Agricultural Equipment Grant Scheme
Agricultural Equipment Grant Scheme
Agricultural Equipment Grant Scheme: सुपर सीडर/हैप्पी सीडर के लिए आवेदन कैसे करें

कृषि उपकरण अनुदान योजना के तहत राज्य के किसानों को ई-कृषि उपकरण अनुदान पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इसके लिए विभाग द्वारा समय-समय पर लक्ष्य जारी किये जाते हैं। फिलहाल योजना के तहत किसानों से मांग के अनुसार श्रेणियों में आवेदन आमंत्रित किये गये हैं. मांग के अनुरूप श्रेणी में कृषि यंत्र हेतु आवेदन भी सामान्य प्रक्रिया के अनुरूप है। इन उपकरणों के लिए केवल अलग-अलग लक्ष्य जारी नहीं किये गये हैं। पोर्टल पर पहले से पंजीकृत किसान आधार नंबर की मदद से आवेदन कर सकते हैं। नया पंजीकरण कराने के लिए किसान को बायोमेट्रिक सत्यापन कराना होगा।

Also Read: Pan Card: घर बैठे बनवाएं पैन कार्ड, कहीं भी जाने की जरूरत नहीं, 7 दिन में आपके हाथ में होगा पैन कार्ड

Advertisement

Agricultural Equipment Grant Scheme: इस श्रेणी के किसानों का चयन लॉटरी के माध्यम से नहीं किया जाता बल्कि निदेशालय स्तर से उपलब्ध बजट के आधार पर आवेदन स्वीकार किये जाते हैं। स्वीकृत होने पर किसान का आवेदन पोर्टल पर चयनित किसानों की सूची में प्रदर्शित हो जायेगा। सब्सिडी के लिए किसान के चयन की जानकारी उसे एमएमएस के जरिए दी जाएगी. इस श्रेणी के अंतर्गत स्वीकृत आवेदनों में डीलर चयन एवं आगे की सभी प्रक्रियाएं एवं समय अवधि लॉटरी के बाद चयनित किसानों की प्रक्रिया के समान ही रहेगी।

किसानों को कितना डिमांड ड्राफ्ट (डीडी) जमा करना होगा?
Agricultural Equipment Grant Scheme
Agricultural Equipment Grant Scheme

Agricultural Equipment Grant Scheme: योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को अपने स्वयं के बैंक खाते से संबंधित जिले के सहायक कृषि अभियंता के नाम से धरोहर राशि का डिमांड ड्राफ्ट (डीडी) बनवाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदक के नाम से बैंक ड्राफ्ट बनवाना होगा और आवेदन के साथ डीडी की स्कैन कॉपी संलग्न करनी होगी। इसमें सुपर सीडर और हैप्पी सीडर के लिए 5000 रुपये की धरोहर राशि का डिमांड ड्राफ्ट (डीडी) बनवाकर इस श्रेणी के तहत ऑनलाइन आवेदन करना होगा। निर्धारित राशि से कम राशि का डिमांड ड्राफ्ट जमा करने पर आवेदन पत्र मान्य नहीं होगा। अमान्य किया जाए. इसलिए किसानों को निर्धारित राशि का डिमांड ड्राफ्ट बनवाकर ही कृषि उपकरणों पर सब्सिडी के लिए आवेदन करना चाहिए।

READ MORE  PM KisanYojana: pm kisaan की 16वीं किस्त आज होगी आपके खाते में, यहाँ जानें किसे मिलेगा पैसा किसे नहीं

Also Read: PM Kisan Yojana: वापिस होगी प्रधानमंत्री सम्मान निधि की किस्तें, कृषि विभाग करेगा वसूली

Advertisement
Agricultural Equipment Grant Scheme: कृषि उपकरणों पर सब्सिडी के लिए आवेदन कैसे करें

अगर आप मध्य प्रदेश के किसान हैं तो आप सुपर सीडर और हैप्पी सीडर कृषि यंत्रों के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन रखी गई है. जो किसान इन कृषि उपकरणों पर सब्सिडी का लाभ लेना चाहते हैं, वे ई-कृषि उपकरण अनुदान पोर्टल के माध्यम से इसके लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। जो किसान पहले से पंजीकृत हैं उन्हें आधार ओटीपी के माध्यम से लॉग इन कर आवेदन करना होगा। नए किसानों को आवेदन करने से पहले बायोमेट्रिक आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा। आवेदन के साथ डीडी की स्कैन कॉपी संलग्न करना अनिवार्य है। मांग आधारित श्रेणी के तहत कृषि मशीनरी के लिए आवेदन अगली सूचना तक जमा किए जा सकते हैं।

योजना के लिए आवेदन करने के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी?

Agricultural Equipment Grant Scheme: किसान कल्याण एवं कृषि अभियांत्रिकी विभाग से कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिए आवेदन करने के लिए किसानों को कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। योजना के तहत आवेदन करते समय किसानों को जिन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी वे इस प्रकार हैं-

Also Read: Rotavator Potato Sowing Machines: सरकार की तरफ से हरियाणा के किसानों के लिए बड़ा ऐलान, इन चीजों पर दी भारी सब्सिडी

Advertisement

आवेदन करने वाले किसान का आधार कार्ड
आवेदन करने वाले किसान का पासपोर्ट साइज फोटो
आवेदक का मोबाइल नंबर आधार से लिंक हो
आवेदक का बैंक खाता विवरण, पासबुक की प्रति
आवेदक का जाति प्रमाण पत्र (केवल अनुसूचित जाति एवं जनजाति किसानों के लिए)
बी-1 आदि की प्रति सहित कृषि दस्तावेज।

Agricultural Equipment Grant Scheme: योजना से सम्बंधित महत्वपूर्ण लिंक

योजना के लिए आवेदन करने के लिए लिंक- यहां क्लिक करें
जिलेवार सहायक अभियंताओं की सूची के लिए लिंक- यहां क्लिक करें

Also Read: PM Awas Yojana: मकान पात्रों की नई लिस्ट जारी, तुरंत देखें लिस्ट में अपना नाम

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Kisan Drone: ड्रोन पायलट के लिए बस इन डॉक्यूमेंट्स से मिल जाएगी ट्रेनिंग, जानें नए नियम

Rampal Manda

Big Change in Solar Pump Subsidy: सोलर पंप के लिए अब खेत में माइक्रो इरिगेशन लगाना हुआ अनिवार्य

Aapni Agri Desk

प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों को देसी गाय की खरीद पर मिल रहे 25 हजार रूपये, 31 जुलाई तक यहां करें आवेदन

Aapni Agri Desk

Leave a Comment