Aapni Agri
फसलें

Which fertilizers moong: मूंग की बिजाई करने का सही समय और तरीका जानें यहाँ

Which fertilizers moong:
Advertisement

Which fertilizers moong:  मूंग एक दलहनी फसल है। बुआई का सही समय 15 फरवरी से मार्च तक है यह खेलने का समय आपकी विविधता पर निर्भर करता है कि आप कौन सी किस्म चुनते हैं। सबसे कम समय में पकने वाली किस्म को देर से बोया जाता है और सबसे लंबे समय तक पकने वाली किस्म को जल्दी बोया जाता है। मूंग एक ऐसी फसल है जिसमें कम उर्वरक की आवश्यकता होती है। इससे बीमारी भी बहुत कम होती है. मूंग बोते समय हमें कौन से उर्वरकों का उपयोग करना चाहिए और कब पानी देना चाहिए?

Also Read: Animal Farming: पशुओं को ठंड से रखे बचाकर वरना होगा बड़ा नुकसान, अपनाएं ये उपाय

मूंग की खेती : मूंग की खेती करने का सही समय, मूंग का बीज कोन सा बढ़िया है ?
Which fertilizers moong:  मूंग में बुआई के समय सर्वोत्तम उर्वरक

वैसे, मूंग की फसल को बहुत कम नाइट्रोजन की आवश्यकता होती है। लेकिन फिर भी हमें बुआई के समय प्रति एकड़ 20 किलोग्राम यूरिया, 50 किलोग्राम डीएपी और 30 किलोग्राम पोटाश एक साथ डालना चाहिए। यदि आप मूंग की बुआई सीड ड्रिल से करते हैं तो इन उर्वरकों को मशीन द्वारा खेत में फैला दें। यदि आप हाथ से बुआई करते हैं तो जुताई से पहले इन उर्वरकों को अपने खेत में बिखेर दें।

Advertisement
Which fertilizers moong:  प्रति एकड़ बीज

इसके बाद आपको मूंग में किसी भी तरह की खाद डालने की जरूरत नहीं पड़ेगी. आप चाहें तो इसके साथ 5 से 6 क्विंटल प्रति एकड़ की दर से वर्मी कम्पोस्ट भी डाल सकते हैं. ग्रीष्मकालीन मूंग की बुआई में हमें प्रति एकड़ 10 से 12 किलोग्राम बीज का उपयोग करना चाहिए। खेलते समय बीज का उपचार फफूंदनाशकों एवं कीटनाशकों से अवश्य करना चाहिए। ताकि फसल बीमारियों से बची रहे.

Which fertilizers moong:  मूंग में खरपतवार नियंत्रण

मूंग की फसल को केवल एक से दो निराई-गुड़ाई की आवश्यकता होती है। इसलिए हमें इसमें शाकनाशियों का उपयोग करने की आवश्यकता नहीं है। पहली निराई-गुड़ाई हम 20 से 25 दिन पर और दूसरी 40 से 45 दिन पर करते हैं। ताकि उसमें उगने वाले सभी खरपतवार आसानी से नष्ट हो जाएं और आपकी फसल अधिक उगे।

Also Read: Haryana News: हरियाणा के गरीब परिवारों की सूची पर लगी मुहर, अब राशन में मिलेगी ये खाद्य सामग्री

Advertisement
मूंग की खेती बनी वरदान, 70 दिन में किसानों ने प्रति एकड़ कमाए 30 हजार रुपये  - Moong crop beneficial in the off season because Kaithal Farmers earned 30  thousand rupees per acre in 70 days
Which fertilizers moong:  मूंग में सिंचाई का समय

मूंग की फसल 60 से 70 दिन में पक कर तैयार हो जाती है. इस समय गर्मी अधिक होती है इसलिए हमें 5 से 6 सिंचाई आराम से करनी पड़ती है। कुछ मिट्टी में 6 से अधिक सिंचाई भी होती है। जब भी फसल को आवश्यकता हो तब पानी देना चाहिए।

Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Leaf Miner Disease in Mustard: सरसों की फसल में फैल रहा लीफ माइनर रोग, जानें रोकथाम व उपचार के तरीके

Aapni Agri Desk

Fungus diseases moong: मूंग की उन्नत खेती और बजाई समय, जानें सम्पूर्ण जानकारी

Rampal Manda

Millet Cultivation: बाजरे ने की गेहूं की बराबरी, क्या और बढ़ेंगे रेट?

Aapni Agri Desk

Leave a Comment