Aapni Agri
कृषि समाचार

Support Price Wheat: समर्थन मूल्य पर अब गेहूं बेचने के लिए सरकार ने उठाया बड़ा कदम, फसल गिरदावरी करना हुआ जरूरी

Support Price Wheat:
Advertisement

Support Price Wheat: सभी किसानों को सूचित किया जाता है कि रबी फसलों की गिरदावरी करा लें।

मोबाइल से गिरदावरी करें

किसानों को खेती के दौरान दिक्कतों का सामना करना पड़ता है.कभी किसानों पर प्राकृतिक आपदाओं की मार पड़ती है तो कभी भूमि विवाद जैसी कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इसी को ध्यान में रखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों के जीवन को आसान बनाने के लिए एक ऐप विकसित किया है जिसकी मदद से किसान अपनी गिरदावरी खुद कर सकेंगे।

Also Read: Mgnrega workers Wages: मनरेगा में अब वेतन पाने के लिए जरूरी हुआ आधार कार्ड, मंत्रालय ने दी जानकारी

Advertisement
Support Price Wheat: मध्य प्रदेश सरकार ने एमपी किसान ऐप लॉन्च किया है

एमपी किसान ऐप के जरिए किसानों को फसल बीमा के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। किसान गिरदावरी ऐप की मदद से किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि जैसी योजनाओं के लिए पंजीकरण कर सकते हैं।

Wheat
Wheat

मध्य प्रदेश सरकार ने सभी किसानों के लिए अधिसूचना जारी कर दी है.सभी किसानों को सूचित किया जाता है कि वे रबी फसल (गेहूं) को समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए रबी फसलों की गिरदावरी करा लें। यदि वे फसल नहीं काटेंगे तो उनकी फसल समर्थन मूल्य पर नहीं बिकेगी।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

इसके अलावा, किसानों को क्रेडिट कार्ड, फसल ऋण और कृषि, प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना, फसल हानि स्थिति आकलन और कृषि योजनाओं के लिए विभिन्न ऑनलाइन आवेदन करने के लिए फसल गिरदावरी करानी चाहिए।

Advertisement
Support Price Wheat: एमपी किसान ऐप के ये फायदे

मध्य प्रदेश सरकार के राजस्व विभाग ने किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए एक ऐप लॉन्च किया है.जिसे एमपी किसान ऐप कहा जाता है। एमपी किसान ऐप के जरिए आप घर बैठे अपने खेत की जानकारी, खसरा, खतौनी और नक्शे की कॉपी प्राप्त कर सकते हैं। आप एमपी किसान ऐप के माध्यम से बोई गई फसलों की स्व-घोषणा और सरकार द्वारा किसानों को समय-समय पर जारी की जाने वाली खेती संबंधी सलाह भी प्राप्त कर सकते हैं।

इस ऐप के जरिए आप अकाउंट नंबर को आधार नंबर से भी लिंक कर सकते हैं. ऐप के माध्यम से किसान फसल नुकसान का मुआवजा, किसान क्रेडिट कार्ड और कृषि ऋण भी प्राप्त कर सकेंगे।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

एमपी किसान ऐप ऐप के जरिए आप अपनी जमीन/खेत की जानकारी, खाता, खसरा खाता और नक्शे की जानकारी के साथ-साथ खेतों में बोई गई फसलों का बीमा, किसान क्रेडिट कार्ड, कृषि ऋण, न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना और समय-सीमा की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। प्रारंभ की गई योजनाओं की जानकारी एवं सुविधाओं का समय पर लाभ उठा सकेंगे।

Advertisement
Support Price Wheat: एमपी किसान ऐप डाउनलोड इंस्टाल प्रक्रिया

सभी किसानों से अनुरोध है कि रबी फसल का कार्य अपने मोबाइल से करें।
इसके लिए आप प्ले स्टोर से किसान ऐप डाउनलोड कर सकते हैं. और यदि यह आपके पास पहले से है, तो इसे अनइंस्टॉल करें और दोबारा डाउनलोड करें।
अब आपको सबसे ऊपर सर्च बार में एमपी किसान ऐप टाइप करना होगा और सर्च विकल्प पर क्लिक करना होगा।
अब आपको इंस्टाल विकल्प पर क्लिक करना होगा।
ऐप डाउनलोड करने के बाद आप इस ऐप को खोलकर एमपी किसान से जुड़ी सारी जानकारी देख सकते हैं।

Wheat
Wheat
Support Price Wheat: गिरदावरी कैसे करें

सबसे पहले आपको अपने मोबाइल फोन में एमपी किसान ऐप डाउनलोड करना होगा।
ऐप डाउनलोड करने के बाद आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
लॉगिन विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपको चार विकल्प दिखाई देंगे।
किसान लॉगिन
विभागीय लॉगिन
विक्रेता लॉगिन
सोसायटी लॉगिन

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Also Read: Haryana Weather Today: नए साल पर हरियाणा में पड़ैगा कसूता पाला, छह जिलों के लिए रेड अलर्ट-12 में कोल्ड डे

Advertisement
Support Price Wheat: आपको किसान लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

जिसके बाद नए पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी दर्ज करना होगा।
फिर आपको अपने मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा जिसे आपको पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए दर्ज करना होगा।
अब आपको एमपी क्रॉप गिरदावरी लॉग इन फसल दर्ज करने के लिए क्रॉप सेल्फ डिक्लेरेशन पर क्लिक करना होगा।
जिन खातों को आप ट्रांसफर करना चाहते हैं उनमें एक या अधिक खाते जोड़ने के लिए आपको प्लस विकल्प पर क्लिक करना होगा।
प्लस टू ऐड अकाउंट के विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपको जिला, तहसील, हल्का, गांव, खसरा का चयन करना होगा।
अंत में, आपको अपनी फसल की जानकारी दर्ज करनी होगी।

Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

हरियाणा में सोलर पंप के लिए आवेदन कल से: बिजली कनेक्शन आवेदकों को मिलेगी प्राथमिकता, नियमों में हुए कई बदलाव

Aapni Agri Desk

Nilgai lamp: खेत से अगर नीलगाय को भगाना है तो इस तरह जलाएं दीया, कीट- पतंगों से भी मिलेगी राहत

Rampal Manda

यूरिया गोल्ड जिसके कारण बढ़ जाएगी फसलों की पैदावार, जानें क्या है यूरिया गोल्ड और स्प्रे करने की विधि

Aapni Agri Desk

Leave a Comment