Aapni Agri
कृषि समाचार

Save Crops From Frost: फसलों को पाला से बचाना बेहद जरूरी, जल्द करें ये काम नहीं होगा अधिक नुकसान

Save Crops From Frost:
Advertisement

Save Crops From Frost: देश के पहाड़ी राज्य हों या मैदानी इलाके, हर जगह कड़ाके की ठंड और शीतदंश की मार पड़ रही है. इससे आम लोग परेशान हैं. इस बीच ठंड बढ़ने से किसानों को पाले की चिंता सताने लगी है. ऐसा इसलिए है क्योंकि कड़ाके की सर्दी से फसलों पर पाले का खतरा बढ़ जाता है, जिससे रबी और बागवानी फसलों को गंभीर नुकसान होता है। विशेष रूप से, गेहूं, चना, मटर, सरसों, जौ और मसूर जैसी कुछ फसलें पाला सहन करने में सक्षम हैं। लेकिन कुछ फसलें ऐसी भी हैं जिन्हें अत्यधिक ठंड और पाले से नुकसान होता है।

वहीं घने कोहरे और शीतलहर से फसलों में झुलसा रोग का खतरा भी बढ़ जाता है। ऐसे में किसानों को अपनी फसलों को पाले से बचाने के लिए देशी उपाय अपनाने चाहिए. इन उपायों को अपनाकर किसान अपनी फसलों को नुकसान से बचा सकते हैं.

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Also Read: Direct sowing of paddy: डीएसआर तकनीक के तहत धान की सीधी बुआई के लिए किसानों को 19 करोड़ रुपये मिले

Advertisement
ठंड के मौसम में अब पाले से पौधों की नहीं होगी 'मौत', ये उपाय अपनाएं क‍िसान  - Jharkhand farmers how to save crops from cold frost pala marne se fasal  ko kaise
Save Crops From Frost: देसी उपाय कैसे करें

ठंड के मौसम में कोहरे और पाले के कारण आलू, टमाटर, मिर्च, बैंगन जैसी फसलें झुलसा रोग के प्रति अधिक संवेदनशील होती हैं। यदि समय रहते इन फसलों का प्रबंधन नहीं किया गया तो झुलसा रोग से पूरी फसल रातों-रात नष्ट हो जायेगी. जबकि घरेलू उपाय अपनाकर फसलों को झुलसा रोग और पाले से बचाना चाहिए। इसमें खेतों में धुआं करना, फसलों की सिंचाई, एसिड छिड़काव, पुआल का उपयोग और रासायनिक उर्वरकों का छिड़काव शामिल है।

Save Crops From Frost: खेतों पर धुआं

जब ठंड बहुत अधिक होती है और तापमान बहुत नीचे चला जाता है या कोहरा पड़ने लगता है तो सब्जी की फसलों में पाला पड़ने की घटना बहुत तेजी से बढ़ जाती है। ऐसे में किसानों को अपने खेत में शाम और रात के समय 2 से 3 स्थानों पर खरपतवार रखकर धुआं कर देना चाहिए। खेतों में धूम्रपान करने से फसलों पर कोहरे और पाले का प्रभाव नहीं पड़ता है। यह घरेलू उपाय फसलों को कोहरे और पाले से बचा सकता है.

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
Save Crops From Frost: फसलों की सिंचाई करें

सर्दी के मौसम में कोहरा और पाला पड़ने पर फसलों को पाले से बचाने के लिए सिंचाई करनी चाहिए। इस विधि से फसल पर कोहरे और पाले का प्रभाव भी कम हो जाता है और फसल को नुकसान भी नहीं होता है।

Advertisement
Save Crops From Frost: सल्फ्यूरिक एसिड का छिड़काव

रबी की फसल में जब पाला पड़ने की आशंका हो तो उस दिन फसल पर सल्फ्यूरिक एसिड का छिड़काव करें। इस प्रकार छिड़काव से फसल के आसपास के वातावरण में तापमान बढ़ जाता है। इससे फसल को पाले से होने वाले नुकसान से बचाया जा सकता है।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
Crops Must Be Protected From Frost Know Here | Frost Effect: फसलों के लिए  काल है पाला! बचाने के लिए अपनाएं ये देसी जुगाड़
Save Crops From Frost: भूसे का प्रयोग करें

पाले से सबसे अधिक नुकसान नर्सरी के पौधों को होता है। पौधों की सुरक्षा के लिए नर्सरी में पौधों को ढकने के लिए पुआल का उपयोग किया जा सकता है। इससे भूसे के अंदर का तापमान बढ़ जाता है, जिससे पाले का प्रभाव कम हो जाता है।

Also Read: Weather News: शीतलहर का कहर अभी भी जारी, इन राज्यों में बारिश के आसार

Advertisement
Save Crops From Frost: रसायनों का छिड़काव करें

किसानों को अपनी फसलों को झुलसा रोग और पाले से बचाने के लिए न केवल घरेलू उपायों पर निर्भर रहना चाहिए, बल्कि रसायनों का छिड़काव भी करना चाहिए। ऐसे में यदि कोहरा एवं पाला पड़ने की संभावना हो तो मेरिवैन केमिकल फफूंदनाशक की 10 मिलीलीटर मात्रा को 15 लीटर पानी में घोलकर 1 सप्ताह के अंतराल पर फसलों पर छिड़काव करना चाहिए।

Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Sulfur Coated Urea: सल्फर कोटेड यूरिया बाजार में उतरी, जानें इसकी कीमत और फायदे

Rampal Manda

Wheat MSP Price 2024-25: 2400 रुपये प्रति क्विंटल एमएसपी पर गेहूं खरीदेगी सरकार, किसान रखें इन बातों का ध्यान

Aapni Agri Desk

Rain In North India: पूरा उत्‍तर भारत ठंड से झुझ रहा, अब गर्मी में फसलों मे कितना नुकसान

Rampal Manda

Leave a Comment