Aapni Agri
फसलें

Rabi season crops: रबी की फसल के लिए इस वक्त का मौसम कितना फायदेमंद और नुकसानदायक, जानें क्या क्या करें इस मौसम में

Rabi season crops:
Advertisement

Rabi season crops:  रबी की फसल की खेती शीत ऋतु में की जाती है। इस फसल के लिए आमतौर पर 15 से 25 डिग्री के बीच का तापमान अच्छा माना जाता है। इस समय मिट्टी में मौजूद नमी इन फसलों के लिए जरूरी है। आइए जानते हैं कि मौजूदा मौसम रबी फसल के लिए कितना फायदेमंद और नुकसानदेह है।

Also Read: Haryana: हरियाणा में 4 बच्चों का पिता गर्भवती पत्नी को छोड़कर 5 बच्चों की मां के साथ हुआ फरार…

रबी की फसलों के लिए 'रामबाण' है यह बारिश - rainfall-a-relief-for-rabi-crops-in-northern-states  | The Economic Times Hindi
Rabi season crops:  रबी फसलों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ने की उम्मीद

सर्दी का रबी फसलों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ने की उम्मीद है। विशेषज्ञों के मुताबिक यह मौसम गेहूं की फसल के लिए फायदेमंद हो सकता है। इस मौसम में गेहूं के पौधे प्रचुर मात्रा में कॉल्स पैदा करते हैं। खेतों में बुआई का उपयुक्त समय. यह मौसम पौधों की वृद्धि के लिए आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है। यदि वर्षा बहुत अधिक हुई तो फसलों को नुकसान हो सकता है। यदि तापमान बहुत अधिक हुआ तो फसलों को सूखे का सामना करना पड़ सकता है।

Advertisement
Rabi season crops:  बारिश का कितना असर

विशेषज्ञों के मुताबिक रबी फसल के लिए बारिश जरूरी है। इससे खेतों में नमी बनी रहती है, जो पौधों के विकास के लिए जरूरी है। बारिश से मिट्टी में पोषक तत्व भी घुल जाते हैं, जो पौधों को मिलते हैं। अगर बारिश तेज हुई तो फसलों को भी नुकसान हो सकता है. अत्यधिक वर्षा से खेतों में बाढ़ आ सकती है, जिससे पौधों की जड़ें सड़ जाएंगी और फसलें बर्बाद हो जाएंगी।

Also Read: PM kisan Yojana: महिला किसानों को मिल रहे 12 हजार रुपये, मोदी सरकार के इस संभावित फैसले के क्या है मायने

वैज्ञानिकों ने जारी की सलाह: अभी के मौसम में किसान करें यह काम - Kisan  Samadhan
Rabi season crops:  तापमान अधिक हुआ तो फसलों को सूखे का सामना

यदि तापमान अधिक हुआ तो फसलों को सूखे का सामना करना पड़ सकता है। उच्च तापमान पौधों की वृद्धि रोक सकता है और पैदावार कम कर सकता है। रबी मौसम के दौरान बेहतर तापमान और आर्द्रता से फसलों को लाभ होता है। लेकिन अगर बारिश तेज हुई तो फसलों को नुकसान हो सकता है.

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Advisory for Wheat Farming: गेहूं में अगर अभी बाली निकल गई है तो जल्द करें यह काम, पढ़े कृष‍ि वैज्ञान‍िकों की सलाह

Rampal Manda

Saffron Cultivation: ऐसी फसल जिसका प्रति किलो भाव है 3 लाख रूपये, जानें मोटा मुनाफा देने वाली फसलों के बारे में

Aapni Agri Desk

Pea Disease: ठंडे वातावरण के कारण मटर में इन रोगों का हो रहा अटैक, जानें बचाव उपाय

Rampal Manda

Leave a Comment