Aapni Agri
कृषि समाचार

Mustard prevents cold: सरसों आलू व पालक को पाले से बचाने के लिए अपनाएं ये तरीके

Mustard prevents cold:
Advertisement

Mustard prevents cold: देश में इस समय कड़ाके की ठंड पड़ रही है। इसके तहत शीतलहर और कोहरे की गतिविधियां बढ़ने लगी हैं। इसके अलावा कई जगहों पर पाला पड़ने का भी अनुमान है. गेहूं की फसल के लिए मौसम अच्छा बताया जा रहा है। जबकि सरसों, आलू और पालक की फसल को नुकसान होने की संभावना है। ऐसे में किसानों को फसल को संभावित नुकसान से बचाने के लिए समय से पहले ही अपनी सरसों, आलू और पालक की फसल को पाले से बचाने के उपाय करने चाहिए।

Also Read: PM Kisan Yojana: राजस्थान सरकार ने किसानों को किया मालामाल, PM Kisan का पैसा बढ़ाया और गोपाल क्रेडिट कार्ड योजना की शुरू

Mustard prevents cold: पाला पड़ने की चेतावनी जारी

मौसम विभाग ने कई उत्तरी राज्यों में पाला पड़ने की चेतावनी जारी की है. पाले से पूर्वी राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में फसलों को नुकसान होने की आशंका है। वहीं, पाला गेहूं के अलावा सरसों को भी 80 से 90 फीसदी तक नुकसान पहुंचा सकता है। पाले से आलू की फसल 40 से 50 प्रतिशत तक प्रभावित होने की संभावना है। इसके अलावा पालक और पत्तागोभी जैसी हरी सब्जियों को भी नुकसान होने की संभावना है।

Advertisement

frost can damage Potato mustard mustard crops | Frost Effect: लहलहायेगी  गेहूं की फसल, इन फसलों के लिए पाला बनेगा खतरा, बचाव के लिए इस दवा का करें  छिड़काव

Mustard prevents cold: आलू की फसल को पाले से बचाने के लिए क्या करें

तापमान गिरने से पाला पड़ने का खतरा बढ़ जाता है। पाले से आलू की फसल पर दाग-धब्बे दिखाई देने लग सकते हैं, ये धब्बे कई रंगों के हो सकते हैं। ऐसे में आपको सावधान रहना चाहिए और इसे दूर करने के उपाय करने चाहिए। अगर समय रहते इसकी रोकथाम नहीं की गई तो यह फसल को काफी नुकसान पहुंचा सकता है। इसके लिए आप मैकानोलिप की 50 प्रतिशत मात्रा को 2.5 लीटर प्रति हेक्टेयर की दर से छिड़काव कर सकते हैं. इससे आलू की फसल को नुकसान नहीं होगा.

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
Mustard prevents cold: सरसों की फसल को पाले से बचाने के लिए क्या करें

पाले से फसल में रोग लग जाते हैं। अगर सरसों की बात करें तो इसमें शीतदंश माहू कीट, जिसे चेपा भी कहा जाता है, का प्रकोप हो सकता है। माहू कीट सरसों के लिए सबसे हानिकारक कीट माना जाता है। यह कीट सफेद और हरे रंग का होता है। यह कीट पौधों के फूल, पत्तियों, डंठलों और फलों पर चिपक जाता है और रस चूसकर पौधों को कमजोर कर देता है ।

Advertisement
Mustard prevents cold: फलियों की संख्या कम

इस कीट का प्रकोप फसल में फूल आने पर शुरू होता है। इस कीट के प्रकोप से फलियों की संख्या कम हो जाती है तथा दाना ठीक से नहीं बनता है। यह कीट सरसों की फसल को 25 से 40 प्रतिशत तक नुकसान पहुंचा सकता है। सरसों की फसल को इस कीट से बचाने के लिए एक लीटर पानी में दो मिलीलीटर इमडा क्लोफाइड रसायन की मात्रा मिलाकर फसल पर छिड़काव करना चाहिए।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

सरसों, टमाटर और बैंगन के लिए बहुत खतरनाक है यह मौसम, पाले से ऐसे करें बचाव  - know how to save mustard crop from frost in winter season -
Also Read: RBI Bank: गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीसी) द्वारा की जा रही मनमानी पर आरबीआई की पैनी नजर है।

Mustard prevents cold: पालक की फसल को पाले से बचाने के लिए क्या करें

पालक जैसी हरी सब्जियों को पाले से बचाने के लिए किसानों को रात 10 बजे से पहले सिंचाई करनी चाहिए. रात्रि के दूसरे एवं तीसरे पहर में फसल की सिंचाई नहीं करनी चाहिए। पाले का खतरा होने पर फसलों एवं बागवानी फसलों में घुलनशील सल्फर 80 प्रतिशत डब्लूपी दो से ढाई ग्राम प्रति लीटर पानी में 1.5 से 200 लीटर पानी में प्रति एकड़ की दर से छिड़काव करना चाहिए। . इससे तापमान दो से ढाई डिग्री सेल्सियस बढ़ जाता है और फसल पाले से बच जाती है।

Advertisement
Advertisement
READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Bharat Rice: सरकार ने पेश किया ‘भारत चावल’, कीमत 29 रुपये प्रति किलो

Rampal Manda

Identification hopper disease mustard: सरसों में माहू कीट का जल्द से जल्द करें समाधान, वरना फलियां बनते समय होगी दिक्कत

Rampal Manda

Integrated Farming: खेती की इस तकनीक बदल रही किसानों की किस्मत, कम लागत मे ज्यादा मुनाफा

Rampal Manda

Leave a Comment