Aapni Agri
कृषि समाचार

Mustard crop Mahu pest: सरसों की फसल में माहू कीट होगा जड़ से खत्म, करें इस कीटनाशक का स्प्रे

Mustard crop Mahu pest:
Advertisement

Mustard crop Mahu pest: कीट सरसों की फसल को काफी नुकसान पहुंचाते हैं। माहू कीट सरसों के लिए बड़ा खतरा है। कृषि वैज्ञानिक हमेशा सलाह देते हैं कि महोगनी कीटों से बचाव के लिए समय पर कीटनाशकों का छिड़काव जरूरी है।

Mustard crop Mahu pest: सरसों में रोगथाम उपाय

भारत में रबी सीजन चल रहा है. कुछ राज्य इस समय रबी सीजन की फसलें बो रहे हैं। इस बीच, अधिकांश क्षेत्रों में बुआई लगभग पूरी हो चुकी है। सरसों को प्रमुख तिलहनी फसल माना जाता है। भारत के बड़े क्षेत्र में किसानों ने सरसों की बुआई की है. हालाँकि, फसल की देखभाल फसल की पैदावार से जुड़ी महत्वपूर्ण इकाई है।

यदि कोई किसान फसल की अच्छी देखभाल नहीं कर पाता है तो कीट रोग आक्रमण कर फसल को नष्ट कर देते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि किसानों को समय रहते फसलों में स्प्रे कर देना चाहिए. सरसों में कीट रोग भी बहुत हानिकारक होते हैं। बता दें कि फसल के संरक्षण के लिए जानकारी का होना जरूरी है।

Advertisement
Mustard
Mustard

Also Read: Agricultural Machinery: कृषि यंत्रो पर सरकार देगी 50% से 80% सब्सिडी, जल्द करें आवेदन

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
Mustard crop Mahu pest: माहू कीट सरसों की फसल को नष्ट कर देता है

सरसों की फसल विभिन्न रोगों के प्रति संवेदनशील होती है। यह फसल कीटों के प्रति भी संवेदनशील होती है। लेकिन सबसे बड़ा संकट माहू कीट का बना हुआ है। विशेषज्ञों का कहना है कि माहू कीट का रंग पीला, हरा और काला होता है। यह पौधे की पत्ती, शाखाओं, फूलों और फलियों से चिपक जाता है। साथ ही, यह उनका रस भी चूस लेता है और पौधे को सुखा देता है। इसके बाद पौधा पीला पड़ने लगता है. यदि संरक्षण न किया जाए तो पौधा मर जाता है।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान
Mustard crop Mahu pest: माहू कीट 24 घंटे के अंदर 80,000 कीड़ों को जन्म देता है

माहू कीट को हिन्दी में फुदका तथा अंग्रेजी में एफिड्स कहते हैं। यह एक उभयलिंगी पौधा है. उभयलिंगी होने के कारण यह स्वयं नये कीड़ों को जन्म देता रहता है। बता दें, कि इसकी प्रजनन दर काफी चौंकाने वाली है। माहू कीट का जीवन काल केवल सात दिन का होता है। लेकिन अगर इसकी प्रजनन दर को देखें तो यह 24 घंटे में 80,000 बच्चों को जन्म देती है।

Advertisement
Mustard
Mustard
Mustard crop Mahu pest: यदि नियंत्रण न किया गया तो माहू कीट फसल को बर्बाद कर सकता है

भारत में सरसों की फसल उगने लगी है. किसानों के पास सर्वोत्तम उत्पादन क्षमता है। हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि इस दौरान माहू कीट से बचाव जरूरी है। यदि समय रहते माहू कीट पर नियंत्रण नहीं किया गया। साथ ही, एक बार जब यह कीट बड़े क्षेत्र में फैल जाता है तो यह आवश्यक फसल को बर्बाद कर देगा। नवंबर से मार्च तक कीट का संकट बना रहता है।

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Also Read: Agriculture News: अब किसान अपनी फसल किसी भी राज्य में बेच सकते हैं, यह इस संशोधन के तहत संभव हुआ

Mustard crop Mahu pest: किसानों को अपनी फसलों की लगातार निगरानी करनी चाहिए

फसल सुरक्षा के लिए किसानों को सरसों की फसल का निरीक्षण करते रहना चाहिए। फसल पर नजर रखें, यह देखने के लिए कि क्या महोगनी कीट फसल के शीर्ष पर चिपक गया है। यदि पौधे पर कीट दिखाई दें या कोई क्षति दिखे तो विशेषज्ञों से सलाह लेकर तुरंत कीटनाशकों का छिड़काव करना चाहिए।

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Cultivation of maize: मक्के की खेती करने वाले किसानों के लिए बड़ी सौगात, खेत बनेंगे पेट्रोल के कुएँ

Rampal Manda

Wheat Crop: गेहूं की फसल में जिंक की कमी के कारण होने वाले नुकसान, जानें यहाँ

Rampal Manda

Government Scheme: किसान को धान बोने पर मिलेंगे 4000 रुपये! पानी की भी होगी बचत

Aapni Agri Desk

Leave a Comment