Aapni Agri
कृषि समाचार

Kheti Desi Jugad: फसलों के लिए रामबाण है हीटर, ठंड से तुरंत मिलेगी राहत

Kheti Desi Jugad:
Advertisement

Kheti Desi Jugad: इस वक्त जो मौसम चल रहा है, उससे इंसानों से लेकर जानवर और यहां तक ​​कि पेड़-पौधे भी परेशान हैं। तापमान में लगातार गिरावट और हाड़ कंपा देने वाली ठंड ने हालात और खराब कर दिए हैं। शीतलहर ने सभी को छिपने पर मजबूर कर दिया है. पौधों की पत्तियां भी सिकुड़ रही हैं। कड़ाके की ठंड ने फसलों को मार डाला है।

Kheti Desi Jugad:किसानों की चिंता बढ़ गई

ऐसे में किसानों की चिंता बढ़ गई है. किसानों को अपनी रबी फसल की चिंता सता रही है. किसानों की इन्हीं चिंताओं को दूर करने के लिए कृषि वैज्ञानिक सलाह दे रहे हैं. इसमें फसलों को पाले से बचाने के लिए हीटर के बारे में सलाह दी गई है।

READ MORE  Mustard production India: सरसों की फसल में एमएसपी के कारण किसानों के हाथ लगी निराशा, जानें कैसे

Also Read: Haryana government: खेती को आगे बढ़ाने के ल‍िए किसानों को विदेश भेजेगी खट्टर सरकार, अफ्रीकी देशों में दी जाएगी ट्रेनिंग

Advertisement
फाईल:వ్యవసాయం 1578472643291.jpg - विकिपीडिया
Kheti Desi Jugad: कृषि विशेषज्ञों के अनुसार

कृषि विशेषज्ञों के अनुसार आवश्यकतानुसार फसलों, सब्जियों या फलों के पौधों की दो कतारों के बीच या घास के मैदानों के आसपास हीटर लगाने से भी पाले के प्रभाव को कम किया जा सकता है। हीटर से मिट्टी और पौधों के आसपास का तापमान बढ़ जाता है। हीटर की गर्मी से मिट्टी की ऊपरी सतह पर धुएं की दीवार बन जाती है, जो मिट्टी की गर्मी को लंबे समय तक बनाए रखती है। इससे फसल पाले से बच जाती है। इस विधि के लिए समय पर उचित बिजली आपूर्ति की भी आवश्यकता होती है।

READ MORE  Fertilizer Subsidy: खाद की बढ़ाई गई सब्सिडी, अब इतने में मिलेगी यूरिया और पोटाश
Kheti Desi Jugad: इन उपायों पर विचार करें किसान

पाले से बचाव के कुछ अन्य उपायों में पाले से होने वाले नुकसान को रोकने के लिए खेत के चारों ओर पेड़ों और झाड़ियों की बाड़ लगाना शामिल है। यदि खेत के चारों ओर घास के मैदान में पेड़ों की कतार लगाना संभव न हो तो कम से कम उत्तर-पश्चिम दिशा में पेड़ों की कतार लगानी चाहिए। इससे उसी दिशा में आने वाली शीत लहर रुक जाएगी।

Also Read: Trending: यूएई में भारतीय ड्राइवर हुआ मालामाल, जीते 45 करोड़ रुपये, कहा- यकीन नहीं हो रहा

Advertisement
Crops Must Be Protected From Frost Know Here | Frost Effect: फसलों के लिए  काल है पाला! बचाने के लिए अपनाएं ये देसी जुगाड़
Kheti Desi Jugad: पेड़ों की पंक्ति की ऊँचाई जितनी अधिक उतना काम खतरा

पेड़ों की पंक्ति की ऊँचाई जितनी अधिक होगी, पाले से सुरक्षा उतनी ही अधिक होगी। यदि शीत लहर की दिशा से पेड़ की ऊंचाई से चार गुना तथा ठंडी हवा की दिशा से पेड़ की ऊंचाई से 25-30 गुना अधिक ऊंचाई पर पौधे लगाए जाएं तो फसल सुरक्षित रहती है। इसके अलावा छोटे पपीते और आम के पेड़ों को प्लास्टिक क्लोच से बचाया जा सकता है। हमारे देश में इस तरह का प्रयोग आम नहीं है, लेकिन किसान अब इसे अपना रहे हैं. किसान स्वयं प्लास्टिक क्लॉच बना सकते हैं और पौधों को पाले से बचाने के लिए उनका उपयोग कर सकते हैं।

Advertisement
READ MORE  Wheat procurement: Kisan Andolan के बीच बड़ा ऐलान, इस साल MSP के कारण पिछले साल की बजाय कम होगी गेहूं खरीद

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

World Cotton Day 2023: आज है विश्व कपास दिवस, जानें इसका महत्व

Aapni Agri Desk

weather information: अब किसानों को मिलेगी मौसम की सही जानकारी, मौसम विभाग ने जारी किया मेघदूत ऐप

Rampal Manda

Agriculture budget 2024: फसल बर्बादी रोकने को एग्री प्रॉसेसिंग यूनिट की मजबूती बेहद आवश्यक, बजट में किसानों पर मेहरबान हो सकती है सरकार

Rampal Manda

Leave a Comment