Aapni Agri
कृषि समाचार

Importance of flag leaf in wheat: इन तीन पत्तियों को रखें हरा, गेहूं की पैदावार होगी डबल

Importance of flag leaf in wheat:
Advertisement

Importance of flag leaf in wheat: फसल की अच्छी पैदावार से न केवल किसान की आय बढ़ती है, बल्कि देश के खाद्य भंडार को भी फायदा होता है। किसान हमेशा यही चाहता है कि उसे अपनी फसल से अधिक उपज मिले। इसके लिए वह इसमें विभिन्न रासायनिक उर्वरकों और पोषक तत्वों का उपयोग करते हैं। ताकि वह पैदावार बढ़ा सके. लेकिन पैदावार बढ़ाने के लिए हमें गेहूं में उर्वरक और पोषण के साथ-साथ अन्य चीजों पर भी ध्यान देना होगा। पौधे की पत्तियाँ पीली होती हैं। या नहीं या उनमें कोई खराबी नहीं है. यदि हां, तो उन्हें ठीक करना किसानों का पहला काम है। गेहूं की पैदावार बढ़ाने के लिए पौधे में तीन पत्तियां अहम भूमिका निभाती हैं।

Also Read: Drive Away Wild Animals: खेतों में जंगली जानवरों से हो रहा नुकसान तो ऐसे करें बचाव

READ MORE  Agri Tips: इन उपायों को फॉलो कर अपनी फसल से आप पा सकते है बंपर उत्पादन, यहां जानें तरीका
wheat
wheat
Importance of flag leaf in wheat: गेहूं की पैदावार इन तीन पत्तों पर निर्भर करती है

हमारी गेहूं की पैदावार तीन पत्तियों पर निर्भर करती है। ये तीन पत्तियां हैं झंडा पत्ती, निचली पत्ती झंडा पेट वाली और उसके नीचे की पति यानी पौधे की ऊपरी तीन पत्तियां हमारी उपज के लिए सबसे महत्वपूर्ण हैं। अगर आप इन तीन पत्तियों को हरा-भरा रखेंगे तो आपकी उपज पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

Advertisement
Importance of flag leaf in wheat: झंडा पत्ती बाली का उपयोग

गेहूँ में 43% खाना पकाने के लिए झंडा पत्ती बाली का उपयोग किया जाता है। उसके बाद दूसरे नंबर वाली पत्ती में 23% तक भोजन होता है। और इसके नीचे का पत्ता 7% भोजन बनाता है। बाकी 27% भोजन बाली स्वयं बनाता है। बाली में जो हरा भाग है, वह खाना पकाने का 27% तक है।

READ MORE  Banas Dairy: अन्नदाता को ऊर्जादाता-उर्वरकदाता बनाने का प्लान, जानें कैसे होगा किसानों का फायदा
Importance of flag leaf in wheat: गेहूं में झंडा पत्ती का महत्व

झंडे का पत्ता इसलिए सबसे ज्यादा खाना तैयार करता है. क्योंकि ये सबसे ऊपर होता है और इयररिंग से चिपका होता है. एक तो यह बाली के सबसे नजदीक है। इससे खाद्य फसल तक पहुंचने में समय नहीं लगता है। दूसरे, इसे सीधी धूप मिलती है। इससे अधिक भोजन तैयार हो जाता है। यह पत्ती अन्य पत्तियों से सबसे चौड़ी होती है। जिससे यह क्लोरोफिल बनाने में अधिक सहायक हो जाता है।

wheat
wheat

तीन से कम पत्तियों वाला पौधा। वही पौधे में आपको बालियां आदि अधूरी नजर आएंगी। इसमें आपको अनाज कम मात्रा में मिलेगा या त्यागने पर आधा अनाज आपको खाली नजर आएगा। यही कारण है कि गेहूं में जो छोटे पौधे होते हैं। उनमें बालियां नहीं बनतीं. यदि ऐसा होता है, तो इसमें बहुत कम दाने होते हैं।

Advertisement

इन तीन पत्तियों पर आपको कोई भी फफूंद जनित रोग या कोई भी कीट रोग नहीं लगना है. इसलिए समय पर छिड़काव करें।

READ MORE  Last irrigation in wheat: जानें गेहूं की आखिरी सिंचाई कब करें, देखें सही समय और सही तरीका

Also Read: Mandhana: स्मृति मंधाना अपने पार्टनर के रूप में कैसा लड़का चाहती हैं? क्रिकेटर ने KBC में बताया, देखें ईशान का रिएक्शन

Importance of flag leaf in wheat: गेहूँ में झंडा पत्ती अवस्था क्या है?

पौधे में मिट्टी की सतह के ऊपर तीन गांठें बनने के बाद ध्वजपत्ती शुरू होती है।

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Fertilizers: सल्फर कोटेड यूरिया को लॉन्च करने के प्रस्ताव को मिली मंजूरी, जानें क्या होगी कीमत

Rampal Manda

Wheat Crop: अगर गेहूं की फसल को बर्बाद कर रहे हैं जड़ माहू कीट, तो अपनाएं ये तरीके

Rampal Manda

Haryana Agriculture News: हरियाणा के किसानों के लिए कृषि एडवाइजरी, फसल को बचाने के लिए इन दवाओं का प्रयोग करना जरूरी

Rampal Manda

Leave a Comment