Aapni Agri
योजनाएंकृषि समाचार

Government Scheme: किसान को धान बोने पर मिलेंगे 4000 रुपये! पानी की भी होगी बचत

Government Subsidy
Advertisement

Aapni News, Farming

रबी की फसलों की कटाई का वक्त खत्म हो चूका है. ऐसे में खेत पूरी तरह से खाली हैं. जुलाई महीने से खरीफ फसलों की बुवाई शुरू हो जाएगी. इस वक्त देश के अधिकतर राज्यों में भूजल स्तर अपने निचले स्तर पर है. इस बीच हरियाणा सरकार ने कम पानी में धान की खेती को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है. हरियाणा सरकार धान की सीधी बुवाई करने वाले किसानों को प्रति एकड़ 4 हजार रुपये की सब्सिडी देने का फैसला किया है.

Also Read: Success Story: सिंचाई की नई तकनीक ने खोले कमाई के रास्ते, 2 महीने की ट्रेनिंग लेकर इंजीनियर ने कमाए ₹70 लाख

Advertisement

प्रति एकड़ किसानों को 4 हजार रुपये

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

हरियाणा में धान की सीधी बुवाई यानी डीएसआर तकनीक से बिजाई करने पर भी 4000 रुपये प्रति एकड़ की सब्सिडी दी जाएगी . इस तकनीक से भूजल का ज्यादा खतरा नहीं होगा और मिट्टी की संरचना भी बेहतर होगी. ये तकनीक अपनाने पर सिंचाई के दौरान पानी की 20 प्रतिशत तक की बचत होगी.

Also Read: Chanakya Niti: ये चीजें गंदगी में पड़ी मिले तो उन्हें तुरंत उठाकर ले आएं अपने घर, जानें चाणक्य नीति में

Advertisement

यहां करें आवेदन

अगर आप हरियाणा के निवासी है और धान की सीधी बुवाई पर सब्सिडी लेना चाहते हैं तो agriharyana.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं. इस सब्सिडी से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए मेरा पानी मेरी विरासत पोर्टल या अपने जिले के कृषि विभाग के कार्यालय में जाकर किसान संपर्क कर सकते हैं और जानकारी ले सकते हैं.

READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

 

Advertisement

Also Read: किसानों के लिए खुशखबरी, अब 2027 तक मुफ्त मिलेंगे दलहन और तिलहन के बीज

पिछले साल भी दी गई थी आर्थिक मदद

राज्य में गिरते भूजल स्तर को देखते हुए हरियाणा सरकार ने पिछले साल भी किसानों को धान की सीधी बुवाई करने पर प्रति एकड़ 4 हजार रुपये देने का फैसला किया था. इसके अलावा धान की जगह अन्य फसलों की खेती करने पर भी किसानों को आर्थिक मदद दी गई थी. इसके अलावा पंजाब सरकार ने भी पिछले साल धान की बुवाई को लेकर कुछ इसी तरह का फैसला किया था. बता दें पंजाब और हरियाणा में भूजल स्तर की स्थिति काफी बेहतर है.

Advertisement

Also Read: Mahindra 575 DI और स्वराज 744 में से कौनसा ट्रैक्टर है आपके लिए बेहतर, जानें दोनों के बारे में विस्तार से

Advertisement
READ MORE  Haryana Budget 2024-25: किसान आंदोलन के दौरान सीएम खट्टर ने किया कर्जमाफी व MSP का ऐलान

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Cotton Farming: कपास की खेती में कौन सी डाले खाद, जानें कौन सा उर्वरक सबसे बेहतर

Rampal Manda

केंद्र सरकार ने 1.8 लाख करोड़ रूपये की उर्वरक सब्सिडी को दी मंजूरी, जानें रेटों में क्या हुआ बदलाव

Aapni Agri Desk

Pashudhan Bima Yojana: पशुओं को करवाएं बीमा, मिलेंगे ये फायदे

Aapni Agri Desk

Leave a Comment