Aapni Agri
फसलें

Cultivation of mustard: सरसों की खेती को कीटों से बचाने के लिए अपनाएं ये तरीका, कीटों का होगा पल में सफाया

Cultivation of mustard:
Advertisement

Cultivation of mustard:  सरसों के किसानों के लिए कीटों से निपटना एक कठिन समस्या हो सकती है, खासकर सर्दियों में। चंपा कीट, पेंटेड बग कीट और सोफली जैसे कीट सरसों की फसल को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इस लेख में हम इन कीटों से बचने के तरीकों पर चर्चा करेंगे।

Also Read: Haryana News: हरियाणा में मटर के सही दाम ना मिलने से किसान नाराज, लागत भी पूरी नहीं हुई

Cultivation of mustard:  चंपा कीट

चंपा कीट एक छोटा, हरा कीट है जो सरसों के फूलों और पत्तियों का रस चूसता है।

Advertisement

सरसों की खेती करने वाले किसानों के लिए खास टिप्स, कीटों और रोगों से बचाने  में

Cultivation of mustard:  पेंटेड बग

यह कीट फलियों के अंकुरण के समय सरसों के खेतों में आता है और पत्तियों का रस चूसता है। इसके बचाव के लिए डाइमेथोएट का छिड़काव पेंटेड बग कीटों को रोकने का एक तरीका हो सकता है।

READ MORE  Seed Treatment: अच्छी पैदावार के लिए बीज उपचार बहुत जरूरी, बुआई से पहले ये काम करना न भूलें
Cultivation of mustard:  सोफैली कीट

यह कीट सरसों की पत्तियों को नुकसान पहुंचाता है और फसल को प्रभावित करता है। सोफैली कीटों की रोकथाम के लिए नीम का उपयोग उपयुक्त हो सकता है।

Advertisement

Also Read: WhatsApp new feature: WhatsApp पर आ रहा क्रॉस-प्लेटफॉर्म मेसेजिंग का विकल्प, जानें क्या क्या है नए फीचर में

पीली सरसों की खेती कर किसान भाई कर सकते हैं अच्छी कमाई, बस अपनाना होगा ये  तरीका - Know how to Mustard cultivation, about seeds and everthing
Cultivation of mustard:  अन्य कीट नियंत्रण उपाय

बुआई के सातवें दिन सुबह या शाम को खेत में मैलाथियान या कार्बोरिल पाउडर का छिड़काव करें, जिससे कीट दूर रहेंगे। सरसों उगाते समय कीटों का हमला होना आम बात है, लेकिन सही उपाय अपनाकर इस समस्या से निपटा जा सकता है। मैलाथियान, डाइमेथोएट और नीम जैसे प्राकृतिक उपचारों का उपयोग करने से कीटों के प्रभाव को कम किया जा सकता है, जिससे सरसों की उत्पादकता बढ़ सकती है।

Advertisement
READ MORE  Green Fodder: मार्च में करें ज्वार मक्का और लोबिया की बुवाई, मई-जून में मिलेगा भरपूर चारा
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

टमाटर की 5 हाइब्रिड किस्मों से किसानों को मिलेगा अच्छा मुनाफा, जानें कैसे

Bansilal Balan

अगर आप भी जुलाई महीने में करते है इन फूलों की खेती, तो तुरंत हो जाएंगे मालामाल

Bansilal Balan

Haryana News: हरियाणा में मटर के सही दाम ना मिलने से किसान नाराज, लागत भी पूरी नहीं हुई

Rampal Manda

Leave a Comment