Aapni Agri
कृषि समाचार

Chilli Farming: अगर मिर्च की पत्तियां सिकुड़ कर गिरने लगी तो करें से उपाय, उपज होगी बम्पर

Chilli Farming:
Advertisement

Chilli Farming:  भारत में, हरी मिर्च मसालों में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है क्योंकि यह मसालेदार भोजन का स्वाद चखने के लिए सबसे महत्वपूर्ण सामग्रियों में से एक है। सब्जियों की प्रमुख फसल मिर्च वैसे तो देश के लगभग हर राज्य में खरीफ और रबी दोनों मौसमों में उगाई जाती है, लेकिन इन दिनों बदलते मौसम का असर मिर्च की फसल पर भी पड़ रहा है। तापमान में उतार-चढ़ाव के कारण फसलों पर कीटों का प्रभाव बढ़ रहा है। आपको यह जानकर भी आश्चर्य हो सकता है कि काली मिर्च कीटों से सबसे अधिक प्रभावित होने वाली फसलों में से एक है। किसान अपनी फसलों को इन कीटों से बचाने के लिए विभिन्न कीटनाशकों का भी उपयोग करते हैं।

READ MORE  Fertilizer Subsidy: खाद की बढ़ाई गई सब्सिडी, अब इतने में मिलेगी यूरिया और पोटाश

Also Read: Animal Husbandry: पशुओं के घर की लंबाई रखें उत्तर-दक्षिण दिशा में, पशुओं में होगा बाधा

Chilli Farming:  कीटों का प्रकोप सबसे ज्यादा

खासकर जब काली मिर्च के पौधे में फूल आ रहे हों तो कीटों का प्रकोप सबसे ज्यादा होता है, जिससे फसल शुरुआत में ही खराब हो जाती है और पत्तियां सिकुड़कर गिरने लगती हैं और फसल की गुणवत्ता पूरी तरह से प्रभावित हो जाती है, लेकिन अब किसान इससे छुटकारा पा सकते हैं। इस समस्या। आइये जानते हैं कैसे.

Advertisement
green chilli farming Farmers earn profit of lakhs of rupees | मिर्च की खेती  को क्यों माना जाता है मोटी कमाई वाली खेती, जानिए उसमें कितना फायदा होता है
Chilli Farming:  मिर्च के पौधे पर कीट के लक्षण

कीट के प्रकोप की प्रारंभिक अवस्था में पौधों की पत्तियों पर एक चमकदार परत बन जाती है।
अधिक प्रकोप होने पर पत्तियाँ झुर्रीदार, सिकुड़ी हुई तथा विकृत होकर ऊपर की ओर मुड़ जाती हैं।

READ MORE  Fertilizer subsidy: नहीं महंगी होगी खाद, उर्वरक सब्सिडी के रूप 24 हजार करोड़ की मिली मंजूरी
Chilli Farming:  पौधे की वृद्धि रुक ​​जाती है

फूल गिरने, कम फूल आने तथा फल न लगने का प्रभाव भी फसल पर देखा जा सकता है।

Also Read: 17 IAS Transfer List: राजस्थान मे ब्यूरोक्रेसी मे फेरबदल, गहलोत के करीबी 17 IAS का हुआ तबादला

Advertisement
मिर्च के पत्ते सिकुड़ रहे हैं, माथा भी बन रहा है- कृपया उपाय बतायें
Chilli Farming:  काली मिर्च के पौधों पर कीट नियंत्रण

किसानों को समय-समय पर अपने खेतों में कीटों की उपस्थिति की निगरानी करनी चाहिए।
खेत में पीले चिपचिपे जाल का प्रयोग करें। यह जाल कीड़ों को आकर्षित करता है, जिससे कीड़े जाल में चिपक जाते हैं और आसानी से नष्ट हो जाते हैं।
इसके अलावा, किसानों को अपने खेतों में उचित सिंचाई का ध्यान रखना चाहिए, साथ ही बहुत अधिक नाइट्रोजन युक्त उर्वरकों का उपयोग नहीं करना चाहिए।
यदि पौधे संक्रमित हैं, तो लैम्ब्डा सिहलोथ्रिन 120 मिलीलीटर पानी में मिलाकर खेतों में छिड़काव करें।
अधिक प्रकोप होने पर 300 मिलीलीटर बुप्रोफेजिन 5 प्रतिशत, एससी के साथ फिप्रोनिल 5 प्रतिशत का प्रति एकड़ की दर से छिड़काव करें।

Advertisement
READ MORE  Wheat procurement: Kisan Andolan के बीच बड़ा ऐलान, इस साल MSP के कारण पिछले साल की बजाय कम होगी गेहूं खरीद

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

cheap spray in wheat: गेहूं में सबसे ताकतवर स्प्रे, कृषि वैज्ञानिक ने बताई महत्पूर्ण बातें

Rampal Manda

Biotechnology Farmer: बॉयोटेक्नोलॉजी से दुगुनी होती जा रही किसानों की आमदन, जानें कैसे

Rampal Manda

Wheat procurement: Kisan Andolan के बीच बड़ा ऐलान, इस साल MSP के कारण पिछले साल की बजाय कम होगी गेहूं खरीद

Rampal Manda

Leave a Comment