Aapni Agri
फसलें

Best fertilizer for chilli seedlings: मिर्च की रोपाई से पहले जान लें खेती करने के ये नियम, पैदावार होगी डबल

Best fertilizer for chilli seedlings:
Advertisement

Best fertilizer for chilli seedlings: मिर्ची एक ऐसी फसल है, जिसकी रोपाई की जाती है। मिर्च को आप पूरे साल भर में किसी भी समय उगा सकते हैं। मिर्च की रोपाई मुख्या तौर पर फरवरी में की जाती है। इस समय ज्यादातर किसान इसकी खेती करते हैं। मिर्च के बाजार में काफी अच्छे भाव देखने को मिलते हैं। मिर्च 40 रु से 50 रु किलो आसानी से बिक जाती है।

अगर आप भी मिर्ची की खेती करना चाहते हैं, और अधिक लाभ कमाना चाहते हैं। तो आपको मिर्च लगाने से पहले खेत की तैयारी अच्छे से करनी पड़ेगी। ताकि आपकी मिर्च अच्छे से ग्रोथ करें सकें और आपको अधिक पैदावार निकला कर दे। मिर्च की रोपाई से पहले खेत की तैयारी में कौन-कौन से खाद डालें। इस बारे में आगे आपको संपूर्ण जानकारी मिलेगी।

Also Read: PM Kisan Yojana: PM Kisan Yojana योजना पर केंद्र सरकार का बड़ा बयान, रकम बढ़ोतरी को लेकर कही ये बातें

Advertisement
मिर्च की खेती से किसानों को होगा बेहतर मुनाफा, पढ़ें इससे जुड़ी महत्वपूर्ण  जानकारी | india agriculture chili farming benefits for farmers know farming  facts about chili in india | TV9 ...
Best fertilizer for chilli seedlings: मिर्च रोपाई में सबसे अच्छे खाद

मिर्च की रोपाई करने से पहले हमें खेत में संपूर्ण खादों का एक मिश्रण डालना पड़ता है। जिससे पौधे को सभी प्रकार के पोषक तत्वों की आवश्यकता पूरी हो सके। पौधे को 17 पोषक तत्वों की आवश्यकता पड़ती है। लेकिन किसान भाई ज्यादातर डीएपी और यूरिया का ही इस्तेमाल करते हैं।

Best fertilizer for chilli seedlings: न्यूट्रिएंट्स और माइक्रो न्यूट्रिएंट्स का प्रयोग

हमें सभी न्यूट्रिएंट्स और माइक्रो न्यूट्रिएंट्स का प्रयोग करना चाहिए। जिससे पौधा शुरू से ही बढ़वार करके चले और आपको अच्छी पैदावार निकाल कर दे। मिर्च रोपाई से पहले हमें खेत में कीटों और फंगस रोगों से बचाव के लिए भी कुछ दवाइयां का इस्तेमाल करना पड़ता है। अगर आपके जमीन में भी कीट या फंगस रोग लगते है तो जरूर इस्तेमाल करें।

Best fertilizer for chilli seedlings: गोबर की खाद

मिर्च की रोपाई में खेत तैयारी में हमें तीन से चार ट्रॉली गोबर की खाद या फिर 10 से 20 क्विंटल वर्मी कंपोस्ट को अवश्य डाल देना चाहिए और उसके बाद खेत की की जुताई कर दें। इसके बाद हमें केमिकल खादों को डालकर फिर से खेत की जुताई करनी पड़ेगी। डीएपी 50 किलोग्राम प्रति एकड़, एमओपी 30 किलोग्राम प्रति एकड़, यूरिया 20 किलोग्राम प्रति एकड़

Advertisement

Also Read: Haryana: विमानन क्षेत्र में हरियाणा का परचम, जल्द 9 रूटों पर उड़ान भरेंगे विमान- डिप्टी CM

मिर्च की खेती | Mirch ki kheti kaise karen | संपूर्ण जानकारी | Chilli  farming | farming in India - YouTube
Best fertilizer for chilli seedlings: कैल्शियम मैग्नीशियम और सल्फर का मिश्रण

कैल्शियम मैग्नीशियम और सल्फर का मिश्रण 25 किलोग्राम प्रति एकड़ और बाजार में आपको माइक्रोन्यूट्रिएंट्स के मिक्सर देखने को मिल जाते हैं उनका भी 5 से 6 किलोग्राम प्रति एकड़ के हिसाब से प्रयोग करना है। इसके साथ आपको फिप्रोनिल 0.6% 5 से 6 किलोग्राम प्रति एकड़ के हिसाब से डालकर अपने खेत की जुताई कर दें और उसके बाद जैसे भी आप मिर्च की रोपाई करना चाहते हैं, कर सकते है। आपकी फसल पर किसी प्रकार का कोई रोग नहीं लगेगा। आपकी फसल जल्दी और अच्छे से बढ़वार करेगी।

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

White Stem Rot Disease Mustard: सरसों की फसल में फैल रहा सफेद तना व जड़ गलन रोक, यहां देखें निवारण

Aapni Agri Desk

गेहूं की अच्छी पैदावार के लिए अपनाएं ये उपाय, उत्पादन होगा बेहतर

Aapni Agri Desk

जानिए क्या है लाल चंदन के पेड़ की कीमत? सरकार से इसकी खेती के लिए मिलेगा अनुदान

Bansilal Balan

Leave a Comment