Aapni Agri
पशुपालन

Animal Husbandry: 10 रुपये की किट से गाय-भैंस के गर्भधारण की जांच अब होगी घर बैठे, जानें कैसे

Animal Husbandry:
Advertisement

Animal Husbandry: गाय-भैंस हीट में आई है या नहीं। क्या वह हीट में शामिल होने के बाद से गर्भवती है। ये दो चीजें हैं जिनके बारे में हर पशुपालक चिंतित है। क्योंकि अगर हिट में आने के बाद गाय को गाभिन नहीं कराया गया तो अगले 20 से 22 दिन तक इंतजार करना पड़ेगा। ऐसे में न सिर्फ समय खराब होता है बल्कि आर्थिक नुकसान भी होता है। पशु विशेषज्ञों के मुताबिक इन दोनों समस्याओं से होने वाले नुकसान को रोका जा सकता है। वो भी सिर्फ 10 रुपये खर्च करके.

Animal Husbandry: मुर्रा भैंस देश मे सबसे ज्यादा

आंकड़ों के मुताबिक मुर्रा भैंस की प्रजनन करने वाली भैंसों की संख्या देश में सबसे ज्यादा है। जबकि देश में लगभग 6 करोड़ मुर्रा भैंसें हैं, अन्य नस्लें 5 करोड़ से कम हैं। गायों की तुलना में संख्या में कम होने के बावजूद, भैंस का दूध देश के कुल दूध उत्पादन का 45 प्रतिशत है।

Animal
Animal

Also Read: Viral: बकरी ने दिया 2 बछड़ों को जन्म, देखकर लोग बोल कुदरत को करिश्मो- करने लगे पूजा-अर्चना

Advertisement
Animal Husbandry: जानें कि एक पशुपालक को कैसे कष्ट सहना पड़ता है

पशु विशेषज्ञों के अनुसार यदि भैंस हिट में है और समय पर गर्भवती नहीं हुई तो यह किसान के लिए बड़ा नुकसान है। क्योंकि जब तक भैंस गाभिन नहीं होगी और बच्चा नहीं देगी तब तक वह दूध देना शुरू नहीं करेगी। कभी-कभी ऐसा होता है कि भैंस हिट में आ जाती है और पालक उसे गाभिन कराने की प्रक्रिया अपनाता है, लेकिन किसी कारणवश भैंस गाभिन होना बंद कर देती है। लेकिन किसान को बहुत देर से पता चलता है और तब तक भैंस गर्भवती होने का समय निकल जाता है।

Animal Husbandry: प्रेगनेंसी किट से भैंस की गर्भावस्था की जांच कैसे करें

सीआईआरबी के निदेशक टीके दत्ता का कहना है कि प्रीग डी किट एक जैव रासायनिक प्रक्रिया है। जब हम किट का उपयोग करके भैंस का मूत्र डालते हैं और मूत्र का रंग गहरा लाल या बैंगनी हो जाता है, तो इसका मतलब है कि भैंस गर्भवती है। यदि किट पर पीला या हल्का रंग दिखाई दे तो भैंस अभी गर्भवती नहीं है।

Animal Husbandry:जानवर बीमार होने पर नहीं देगी रही परिणाम

और एक महत्वपूर्ण बात यह है कि यदि आपका जानवर बीमार है, तो यह किट सटीक 100 प्रतिशत परिणाम नहीं देगी। और परीक्षण करते समय यह सुनिश्चित कर लें कि जब आप भैंस का मूत्र ले रहे हों तो मूत्र अपने सामान्य तापमान 20 से 30 डिग्री सेल्सियस पर होना चाहिए।

Advertisement
Animal
Animal

Also Read: Goat Farming: बकरी की मेंगनी से होती है हर महीने 8 से 10 हजार रुपये की आमदनी, जानें कैसे

Animal Husbandry: मिथुन पर भी ट्रायल सफल रहा है

हाल ही में सीआईआरबी ने नागालैंड में मिथुन (पहाड़ी गोजातीय) पर भी इस प्रीग डी किट का सफल परीक्षण किया है। मिथुन के जानवर उत्तर-पूर्व के पहाड़ी इलाकों में बहुत आम हैं। इन्हें समुद्र तल से 3,000 मीटर तक ऊपर उठाया जाता है। परीक्षण आईसीएआर के पूर्व डीडीजी बीएन त्रिपाठी, सीआईआरबी के निदेशक टीके दत्ता और नेशनल जेमिनी रिसर्च इंस्टीट्यूट, नागालैंड के निदेशक गिरीश पाटिल की उपस्थिति में आयोजित किया गया था।

Advertisement
Advertisement

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapniagri.com द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapniagri.com पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Related posts

Foot and mouth disease: खुरपका-मुंहपका रोग का बढ़ा खतरा, दुधारू पशुओं को जल्द कराएं टीकाकरण

Rampal Manda

गिनी फाउल पक्षी से कमाएं 8 से 10 लाख रुपये, जानें कैसे

Bansilal Balan

Fodder: अब आलू और पराली से बनेगा बकरियों का स्वादिष्ट चारा, जानें कैसे

Rampal Manda

Leave a Comment